Sunday - 27 November 2022 - 8:36 AM

‘संगम के 5 किलोमीटर के दायरे में शराब-मांस की बिक्री पर लगे पाबंदी’

जुबिली न्यूज डेस्क

प्रयागराज में संगम नदी के पांच किलोमीटर के दायरे में मीट, मछली और अंडा और शराब पर पांबदी लगाने की मांग की गई है। यह मांग विश्व हिंदू परिषद के नेताओं ने सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर की है।

विहिप के नेताओं की इस मांग को प्रयागराज के साधू संतों का भी साथ मिला है। विहिप के गोरक्षा काशी प्रान्त के मंत्री लाल मणि तिवारी ने मुख्यमंत्री योगी को लिखे पत्र में कहा है, तीर्थराज प्रयागराज करोड़ों सनातनी हिन्दुओं के आस्था का बड़ा केंद्र है। यहां पर लगने वाले कुंभ, अर्ध कुंभ या फिर माघ मेले में दूरदराज से करोड़ों संख्या में श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाने के लिए पहुंचते हैं। उस दौरान श्रद्धालु जब मांस, मछली और शराब जैसे अनैतिक गतिविधियों को देखते हैं, तो उनकी आस्था को बहुत ठेस पहुंचती है। ऐसे में इन सभी पदार्थों की खरीद और बिक्री पर प्रतिबन्ध लगना चाहिए।

यह भी पढ़ें : कांग्रेस से राज्यसभा का टिकट न मिलने पर बोले पवन खेड़ा, शायद मेरी तपस्या में कुछ…

यह भी पढ़ें : IPL का नया सरताज बना टाइटंस, रॉयल्स को 7 विकेट से चटाई धूल

यह भी पढ़ें : शरीयत में दखलंदाजी बर्दाश्त नहीं करेंगे मुसलमान 

विहिप के इस मांग का समर्थन बड़े हनुमान मंदिर के पुजारी महंत बलबीर गिरी महाराज ने भी किया है। उन्होंने कहा कि ये मांग कई सालों से हो रही है।

उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद एक सन्यासी हैं। इसलिए उन्हें पूरा यकीन है कि वह जल्द इस पर फैसला लेंगे और संगम की गरिमा का मान रखेंगे।

फिलहाल विहिप के साथ साधू-संतों की इस मांग पर सरकार कोई कदम उठाएगी या नहीं, ये आने वाला समय बताएगा, लेकिन पिछले साल सितंबर में योगी सरकार ने मथुरा में मंदिर के आस-पास के क्षेत्र में शराब-मांस की बिक्री पर प्रतिबन्ध लगाया था।

मुख्यमंत्री योगी ने ऐलान किया था कि तीर्थ स्थल क्षेत्र में शराब-मांस की बिक्री नहीं होगी। दरअसल ब्रज क्षेत्र में आने वाले श्रद्धालुओं की आस्था को देखते हुए यूपी सरकार ने ये फैसला लिया था।

यह भी पढ़ें :  खुफिया रिपोर्ट में सिद्धू की जान को बताया गया था खतरा, फिर भी सुरक्षा में की गई कटौती

यह भी पढ़ें :  कोलकाता में एक और मॉडल ने की आत्महत्या

यह भी पढ़ें : सिद्धू मूसेवाला के पिता के बयान से हत्या के मामले में आया नया मोड़

पिछले साल श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर सीएम योगी आदित्यनाथ मथुरा आए थे। इस दौरान उन्होंने संतों की इच्छा के मुताबिक काम करते हुए मथुरा में मांस और शराब की बिक्री पर रोक लगाने का ऐलान किया था।

सीएम ने कहा था कि इससे प्रभावित लोग दूध का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। दरअसल योगी सरकार ने मथुरा-वृंदावन में श्रीकृष्ण जन्मस्थल को केंद्र में रखकर दस किमी के रेडियस वाले क्षेत्र को तीर्थ स्थल घोषित किया है। इसमें मथुरा नगर निगम के कुल 22 वार्ड शामिल हैं।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com