Friday - 3 February 2023 - 11:43 AM

…तो इस मामले में सबसे आगे रहीं प्रियंका और मायावती सबसे पीछे

जुबिली न्यूज डेस्क

यूपी में विधानसभा चुनाव का संग्राम थम चुका है। चुनाव आयोग ने 8 जनवरी को यूपी समेत देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के तारीखों की घोषणा की थी।

यूपी में सात चरणों में चुनाव हुआ। यूपी में 56 दिनों तक चले चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ रैलियों के मामले में सबसे व्यस्ततम प्रचारक नजर आए।

जहां कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने 209 रैली और रोड शो किए तो वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 203। वहीं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव जो बीजेपी के लिए मुख्य चुनौती बनकर उभरे, उन्होंने 117 चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया तो वहीं 14 रोड शो भी किए।

यह भी पढ़ें : चीनी विदेश मंत्री ने कहा- चीन और भारत को प्रतिद्वंद्वी की बजाय पार्टनर बनना चाहिए

यह भी पढ़ें :  एक्जिट पोल में भाजपा की जीत दिखाने पर अखिलेश यादव ने क्या कहा?

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कम रैलियां की, लेकिन उनकी रैलियों में आ रही भीड़ ने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा। वहीं बसपा प्रमुख मायावती ने केवल 18 चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया।

चुनाव आयोग ने कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए शुरुआत में ही रैलियों और रोड शो पर प्रतिबंध लगा दिया था। पहले कुछ चरणों में राजनीतिक दलों ने डोर टू डोर प्रचार अभियान पर ही ध्यान केंद्रित किया।

लेकिन फिर जैसे-जैसे कोरोना के मामलों की संख्या कम होती गई, प्रतिबंधों में ढील दी गई और राजनीतिक दलों ने बड़ी रैलियां और बड़े रोड शो का आयोजन किया।

अब पीएम मोदी की बात करते हैं। मोदी ने यूपी में 27 चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया। उन्होंने अपने लोकसभा क्षेत्र वाराणसी में एक रोड शो भी किया।

इसके अलावा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ,रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी भाजपा के लिए बड़ी संख्या में रैलियां की। बीजेपी की चुनाव तैयारियों पर करीब से नजर रखने वाले अमित शाह ने यूपी में 54 रैलियों को संबोधित किया। साथ ही राजनाथ सिंह ने 43 रैलियों को संबोधित किया।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी 41 रैली और रोड शो को संबोधित किया।

यह भी पढ़ें : रूस के इस शर्त की वजह से तेल की कीमतों में लगी आग

यह भी पढ़ें : ‘मुझे कहा गया चुप रहोगे तो राष्ट्रपति बन जाओगे’   

योगी ने किया 75 जिलों में चुनाव प्रचार

यूपी के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी 75 जिलों में चुनाव प्रचार किया। चुनाव प्रचार के आखिरी दिन (5 मार्च) योगी ने गोरखपुर शहर सीट पर एक रोड शो भी किया, जहां से वे खुद चुनाव लड़ रहे हैं।

इसके अलावा कौशांबी जिले की सिराथू विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने 86 रैलियों को संबोधित किया। भाजपा के सूत्रों ने बताया कि ओबीसी नेता केशव प्रसाद मौर्य की अधिकतर जनसभाएं ओबीसी बाहुल्य क्षेत्रों में लगाई गई थी।

वहीं केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पांडे ने भी 34 रैलियों को संबोधित किया। केंद्रीय मंत्री पांडे चंदौली लोकसभा क्षेत्र से सांसद हैं और भाजपा के प्रमुख ब्राह्मण चेहरों में से एक हैं।

यह भी पढ़ें :   चीन के वुहान में फिर लौटा कोरोना

यह भी पढ़ें :  आम लोगों को निकलने देने के लिए हमले रोकेगा रूस

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपनी पार्टी के चुनाव प्रचार का नेतृत्व किया। उन्होंने भाजपा के गढ़ अयोध्या और वाराणसी में भी रोड शो किया। अखिलेश की ज्यादातर रैलियां बुंदेलखंड, मध्य यूपी और पूर्वांचल में लगाई गई थी। सपा के सूत्रों ने बताया कि अखिलेश यादव ने इन क्षेत्रों में अधिक समय दिया क्योंकि छोटी पार्टियों से गठबंधन करने के बाद अखिलेश यादव की नजर नॉन यादव ओबीसी वोट बैंक पर थी।

यह भी पढ़ें :  कुत्ते के भौंकने से नाराज़ सिपाही ने दी उसे दर्दनाक मौत

यह भी पढ़ें :  गुरुग्राम में धर्म को हथियार बनाकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश

वहीं सपा संस्थापक और संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने इस चुनाव में केवल दो रैलियों को संबोधित किया। एक करहल (मैनपुरी जिले) में जहां से उनके बेटे अखिलेश पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं और दूसरी रैली मल्हानी ( जौनपुर जिला) में किया, जहां सपा के सात बार के विधायक और तीन बार मंत्री रहे स्वर्गीय पारसनाथ यादव के बेटे लकी यादव मैदान में हैं। अखिलेश की पत्नी और पूर्व सांसद डिंपल यादव ने कौशमाबी और जौनपुर जिलों में पांच रैलियों  को संबोधित किया।

प्रियंका ने पार्टी के अभियान को बढ़ाया आगे

कांग्रेस अध्यक्ष और रायबरेली की सांसद सोनिया गांधी के सक्रिय प्रचार से दूर रहने के कारण उनकी बेटी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पार्टी के अभियान को आगे बढ़ाया और 167 रैलियों और नुक्कड़ सभाओं को संबोधित किया।

उन्होंने 42 रोड शो और डोर-टू-डोर कैंपेन का भी नेतृत्व किया। प्रियंका ने वर्चुअली 340 निर्वाचन क्षेत्रों   को भी संबोधित किया। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वाराणसी और अमेठी में केवल दो रैलियों को संबोधित किया। राहुल गांधी अमेठी से पिछला लोकसभा चुनाव हार गए थे।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com