Saturday - 17 April 2021 - 4:55 AM

वैक्सीन को लेकर हर तरफ हाहाकार!

जुबिली न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली। महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, बिहार, आंध्र प्रदेश के बाद अब ओडिशा में भी वैक्सीन की कमी हो गई है। हालात इतने खराब बताये जा रहे हैं कि ओडिशा में वैक्सीन की कमी के चलते 1400 में से 700 वैक्सीनेशन सेंटर्स को बंद करना पड़ा है।

देश के अलग- अलग राज्यों में कोरोना वैक्सीन की भयंकर कमी हो गई है। हालात इतने खराब हैं कि ओडिशा में वैक्सीन की कमी के कारण 1400 में से 700 वैक्सीनेशन सेंटर्स को बंद करना पड़ा। अब राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने इसको लेकर केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखी है।

ये भी पढ़े: यूपी: चौंकाने वाले मामले सामने आए, लखनऊ ने डराया

ये भी पढ़े: फ्री में देखना है आईपीएल मैच तो कर लीजिये ये काम

ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नब किशोर दास का कहना है कि राज्य में कई जगह वैक्सीनेशन का काम रोक दिया गया है, हमारे पास सिर्फ दो दिन का ही स्टॉक बचा है। ऐसे में नया स्टॉक नहीं आता है, तो पूरे राज्य में वैक्सीनेशन ठप हो जाएगा।

ओडिशा के मंत्री के मुताबिक अभी उनके पास 5.34 लाख वैक्सीन की डोज़ हैं। उनके राज्य में हर दिन ढाई लाख डोज़ लगाई जाती हैं, यानी दो दिन में ये स्टॉक खत्म हो जाएगा। हमने केंद्र से मांग की है कि कम से कम 25 लाख डोज़ तुरंत भेज दें, ताकि अगले 10 दिन तक उनका काम चल जाए।

ये भी पढ़े: क्या उत्तराखंड की बढ़ती गर्मी बनी जंगलों में लगी आग का सबब?

ये भी पढ़े: काशी विश्वनाथ- ज्ञानवापी परिसर को लेकर कोर्ट ने किया बड़ा फैसला

वैक्सीन की कमी को लेकर पहले ही महाराष्ट्र और केंद्र सरकार में रार चल रही है। महाराष्ट्र का कहना था कि उनके पास तीन दिन का ही वैक्सीन स्टॉक बचा है। अब जब केंद्र ने नया स्टॉक भेजा है, उसमें भी महाराष्ट्र को सिर्फ 17 लाख डोज़ दी गई हैं, जो उसकी जरूरत के हिसाब से काफी कम हैं।

महाराष्ट्र में कई जिलों में वैक्सीनेशन ठप होने की बात भी सामने आई है। दूसरी ओर झारखंड सरकार के मुताबिक उनके पास वैक्सीन का सिर्फ दो दिन का स्टॉक बचा है। हालांकि राज्य सरकार के दावों से इतर केंद्र की ओर से कहा गया है कि हर राज्य को वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में दी जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भी बीते दिनों कहा था कि किसी भी राज्य को वैक्सीन की कमी नहीं आने दी जाएगी।

बीएमसी के मुताबिक मुंबई में अगर आज वैक्सीन की सप्लाई नहीं हुई तो कल से सभी टीकाकरण केंद्र बंद हो जाएंगे। मुंबई में इस वक्त 120 टीकाकरण केंद्र हैं, जिसमें से 73 प्राइवेट हैं। इसमें से 26 अभी से वैक्सीन न होने के कारण बंद हो गए हैं, जबकि कल से 22 बंद हो सकते हैं।

इसके अलावा अगर वैक्सीन की आपूर्ति जल्द से जल्द नहीं हुई तो मुंबई के 25 प्राइवेट टीकाकरण केंद्र 10 अप्रैल से बंद हो सकते हैं। बीएमसी के सरकारी टीकाकरण केंद्र भी वैक्सीन किल्लत से जूझ रहे हैं और अगर वैक्सीन की सप्लाई तुरंत नहीं की गई तो वह भी 10 अप्रैल यानी शनिवार से बंद हो सकते हैं।

उत्तर प्रदेश की बात करें तो यहां भी वाराणसी समेत पूर्वांचल के जिलों में कोरोना वैक्सीन की किल्लत बढ़ती जा रही है। वाराणसी में कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है, तो वहीं वैक्सीन का संकट भी शुरू हो गया है। अगर वैक्सीन नहीं मिली तो गुरुवार के बाद से टीकाकरण कार्यक्रम बाधित हो सकता है। इधर बुधवार को कई केंद्रों पर समय से पहले ही वैक्सीन खत्म होने से कुछ लोग बैरंग वापस हो गए थे।

पूर्वांचल के कई जिलों जैसे जौनपुर, वाराणसी के कई केंद्रों पर कोरोना वैक्सीन की डोज खत्म हो गई हैं। टीका लगवाने आ रहे लोग मायूस होकर वापस लौट गए हैं। वाराणसी और लखनऊ डिपो ने भी वैक्सीन उपलब्ध कराने में हाथ खड़े कर दिए हैं। ऐसे में अगले दो- तीन दिनों तक टीकाकरण कार्य ठप रहने की संभावना है।

ये भी पढ़े: प्रियंका ने कहा गलत आंकड़े दे रही है योगी सरकार

ये भी पढ़े: मकान में बना रहे थे पटाखा, हुआ ब्लास्ट और चली गयी 5 मजदूरों की जान

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com