Wednesday - 20 October 2021 - 9:58 PM

टीएमसी ने कांग्रेस को दिखाया आइना, जानिए सोनिया-राहुल के बारे में क्या कहा?

जुबिली न्यूज डेस्क

पिछले काफी समय से पूरा विपक्षी दल 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए एक एंटी-बीजेपी मोर्चा बनाने की कवायद में जुटा हैं। बीते महीनों में कुछ बड़े नेताओं के बीच मुलाकातों का दौर भी चला था। फिलहाल अभी तक सभी दलों के बीच सहमति नहीं बन पाई लेकिन अब लगता है भविष्य में बन भी नहीं पायेगी, क्योंकि तृणमूल कांग्रेस ने एक बड़ा सियासी बम फोड़ दिया है।

कांग्रेस और टीएमसी के संबंधों में शुक्रवार को उस समय दरार आ गई जब तृणमूल ने दावा किया कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी नहीं बल्कि पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ विपक्ष का चेहरा बनकर उभरी हैं।

टीएमसी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का वैकल्पिक चेहरा बनने में राहुल गांधी विफल रहे हैं, इसलिए ममता को ही विपक्ष का नेतृत्व करना चाहिए।

हालांकि, बंगाल में कांग्रेस ने टीएमसी के दावे को ज्यादा महत्व देने से इनकार करते हुए कहा कि यह अनुमान लगाना जल्दबाजी होगी कि पीएम मोदी का वैकल्पिक चेहरा कौन बनेगा।

यह विवाद टीएमसी के बंगाली मुखपत्र ‘जागो बांग्ला’ के शीर्षक के साथ एक कवर स्टोरी चलाने के बाद शुरू हुआ। टीएमसी के लोकसभा सदस्य सुदीप बंदोपाध्याय के हवाले से कहा गया ‘राहुल गांधी विफल रहे, ममता वैकल्पिक चेहरा हैं।’

उन्होंने कहा कि भारत एक वैकल्पिक चेहरे की तलाश कर रहा है। मैं राहुल गांधी को लंबे समय से जानता हूं, लेकिन मुझे कहना होगा कि वह पीएम मोदी के वैकल्पिक चेहरे के रूप में उभरने में वह विफल रहे हैं। लेकिन, ममता बनर्जी एक वैकल्पिक चेहरे के रूप में उभरने में सफल रही हैं।’

 

टीएमसी नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने कहा, ‘हम कांग्रेस के बगैर गठबंधन की बात नहीं कर रहे हैं। पूरा देश ममता को चाहता है, इसलिए हम ममता का चेहरा रखेंगे और प्रचार अभियान चलाएंगे।’

यह भी पढ़ें : डीएम और ईवीएम दोनों से सावधान रहने की ज़रूरत

यह भी पढ़ें : Video: मशहूर मॉडल ट्रैफिक के बीच सड़क पर करने लगी ये हरकत

यह भी पढ़ें : जीएसटी काउंसिल की बैठक खत्म, नहीं घटेंगे पेट्रोल डीज़ल के दाम

हाल ही में बंदोपाध्याय ने एक पार्टी कार्यक्रम में कहा था कि पूरा देश अब ममता बनर्जी का समर्थन कर रहा है। वहीं शुक्रवार को
तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कुणाल घोष ने कहा कि पार्टी का न तो कांग्रेस का अपमान करने का इरादा है और न ही वह इसके बिना केंद्र में भाजपा सरकार के विकल्प के बारे में बात करना चाहती है।

यह भी पढ़ें : PAK पहुंची थी न्यूजीलैंड की क्रिकेट टीम, आज होना था मैच लेकिन अचानक…

यह भी पढ़ें : मार्केट नई ऊंचाई पर, 60 हजार अंक के करीब पहुंचा सेंसेक्स

यह भी पढ़ें : मुंबई में नेताओं व हेल्थवर्कर्स ने ली कोरोना वैक्सीन की तीसरी डोज

टीएमसी के इस दावे पर प्रतिक्रिया देते हुए राज्य कांग्रेस प्रमुख अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि इस मुद्दे पर टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी।

ऐसे समय में जब पूरा विपक्ष आगामी लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार के खिलाफ विपक्षी एकता कायम करने की कवायदों में लगा हुआ है, ऐसे में तृणमूल का कांग्रेस के खिलाफ यह खुल्लम-खुल्ला ऐलान कहीं- न कहीं विपक्षी एकता की नींव को कमजोर ही करेगा।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com