Thursday - 2 December 2021 - 11:54 AM

मुंबई में नेताओं व हेल्थवर्कर्स ने ली कोरोना वैक्सीन की तीसरी डोज

जुबिली न्यूज डेस्क

देश में कोरोना टीकाकरण अभियान जोरो पर है। हर दिन लाखों लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है। लेकिन अभी भी कई ऐसे लोग हैं जिन्हें वैक्सीन की एक भी डोज नहीं मिली है।

इस सबके बीच खबर है कि महाराष्ट्र के मुंबई में कुछ दर्जन स्वास्थ्यकर्मियों, कुछ राजनेताओं और उनके कर्मचारियों ने पिछले दिनों वैक्सीन की तीसरी खुराक ले ली है।

वैसे कई पश्चिमी देशों में कोरोना का बूस्टर शॉट लगाया जा रहा है, लेकिन भारत में यह चर्चा का विषय बना हुआ है।

केंद्र सरकार ने भी गुरुवार को कहा कि यह प्राथमिकता नहीं है।

यह भी पढ़ें : पाकिस्तान पहुंची अफगानिस्तान की जूनियर महिला फुटबॉल टीम

यह भी पढ़ें : नुसरत जहां के बच्चे का सामने आया बर्थ सर्टिफिकेट, पिता को लेकर सस्पेंस खत्म

यह भी पढ़ें :  आप का ऐलान-यूपी में सरकार बनी तो हर घर को 300 यूनिट बिजली मुफ्त

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया ने कई स्रोतों से पुष्टि की है कि स्वास्थ्य कर्मियों ने विभिन्न अस्पतालों में टीका का तीसरा शॉट लिया है।

इन लोगों ने या तो को-विन पर पंजीकरण के बिना या एक अलग फोन नंबर का उपयोग करके ऐसा किया है। माना जा रहा है कि कई लोगों ने इसे लेने से पहले एंटीबॉडी लेवल की जांच करवाई थी।

एक वरिष्ठ डॉक्टर ने टीओआई से कहा, “इस सूची में मुख्य रूप से ऐसे डॉक्टर शामिल हैं जिन्होंने फरवरी तक अपनी दोनों खुराकें पूरी कर लीं और जांच करने पर उनके एंटीबॉडी के स्तर में कमी पाई गई”।

इसके अलावा एक युवा राजनेता, उनके पति और स्टाफ के सदस्यों के भी बूस्टर जैब लेने की खबर है। अस्पताल के एक सूत्र ने कहा कि कोविशील्ड बूस्टर खुराक का विकल्प रहा है।

यह भी पढ़ें :  कोरोना के नए मामले 30 हजार पार

यह भी पढ़ें :  ‘कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाई तो कर लूंगा ब्रेकअप’

यह भी पढ़ें : गहलोत सरकार पर भड़के स्पीकर ने अनिश्चितकाल के लिए स्थगित की विधानसभा

उन्होंने कहा कि इस काम के लिए कुछ मामलों में वैक्सीन वायल से 11वां डोज निकाला गया है। एक अन्य अस्पताल ने बताया कि कुछ अन्य मामलों में तीसरा डोज उन वायल से हासिल किया गया है, जिसमें कुछ ही खुराकें बची हुई थीं और उन्हें हासिल करने वाला कोई नहीं था।

उन्होंने कहा, ‘स्वास्थ्यकर्मियों ने अपने साथियों के बीच ब्रेकथ्रू इंफेक्शन के मामले देखे हैं और वे नए वेरिएंट्स को लेकर चिंतित हैं।’

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com