Monday - 24 February 2020 - 5:13 AM

महाराष्ट्र कांग्रेस में प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर मचा घमासान

न्यूज डेस्क

कांग्रेस के दुॢदन कब दूर होंगे भगवान मालिक है। दिल्ली से लेकर राज्यों तक में कांग्रेस बुरे दौर से गुजर रही है। एक ओर मध्य प्रदेश में कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ बिगुल फूंके हुए हैं तो वहीं दूसरी ओर महाराष्ट्र  में कांग्रेस नेताओं के बीच प्रदेश अध्यक्ष पद के लेकर घमासान मचा हुआ है।

महाराष्ट्र में एक बार फिर कांग्रेस नेताओं के बीच की रार दिखने लगी है। महाराष्ट्र में सरकार गठन के बाद जहां मंत्रालयों को लेकर मनमुटाव दिखा वहीं अब प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर घमासान मचा हुआ है।

दरअसल महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर मांग की है कि उन्हें राज्य की कमान सौंप दिया जाए। इसके पीछे चाव्हाण ने तर्क देते हुए लिखा कि महाराष्ट्र विधान सभा में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के जिम्मेदार मौजूदा अध्यक्ष बाला साहेब थोराट हैं।

मालूम हो कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के बाद कांग्रेस हाईकमान ने चव्हाण को प्रदेश अध्यक्ष से हटाकर बाला साहेब थोराट को प्रदेश की कमान सौंपा था। एक बार फिर चव्हाण ने खुद को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग की है। फिलहाल इस मामले में कांग्रेस हाईकमान की तरफ से अभी कोई बयान नहीं आया है।

यह भी पढ़ें : अमित शाह ने बताया इन कारणों की वजह से दिल्ली में मिली हार

यह भी पढ़ें :देश का गलत नक्शा पोस्ट करने पर घिरे राहुल

गौरतलब है कि महाराष्ट्र  में कांग्रेस ने प्रदेश पार्टी अध्यक्ष बाला साहेब थोराट की अगुवाई में विधानसभा चुनाव लड़ा था। अब पूर्व मुख्यमंत्री चव्हाण ने आला कमान से गुहार लगाते हुए उन्हें पद से हटाए जाने की मांग की है।

वहीं पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस महाराष्ट्र में जल्द ही गए अध्यक्ष का ऐलान कर सकती है, ऐसे में अशोक चव्हाण द्वारा सोनिया गांधी को लिखे गए पत्र के कई राजनीतिक मायने लगाए जा रहे हैं।

मालूम हो, महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की साझा सरकार है। इस चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने प्रदेश की कुल 288 सीटों में से 44 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

गौरतलब है कि राज्य के राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट ने 12 फरवरी को आरएसएस और बीजेपी पर आरक्षण विरोधी होने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि दोनों अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग को संविधान द्वारा दिए गए आरक्षण को समाप्त करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कभी ऐसा नहीं होने देगी और आरक्षण बचाने के लिए बीजेपी के खिलाफ संघर्ष शुरू करेगी।

यह भी पढ़ें :वैलेंटाइन्स डे: कांग्रेस ने इस VIDEO के जरिए बीजेपी से किया इजहारे इश्‍क

यह भी पढ़ें : चिन्मयानंद स्वामी को जमानत देने वाले जज का होगा प्रमोशन ?

Loading...
English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com