Thursday - 4 March 2021 - 2:16 PM

किसकी रिहाई के लिए -50 डिग्री तापमान में भी रूस के लोग कर रहे प्रदर्शन

जुबिली न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के आलोचक और विपक्षी नेता एलेक्सी नवेलनी के समर्थकों और पुलिस के बीच झड़प हो गई। वैश्विक नेताओं ने इस घटना की निंदा की है। झड़प के दौरान पुलिस को प्रदर्शनकारियों को पीटते और उन्हें घसीटते हुए देखा गया।

कई जगहों पर माइनस 50 डिग्री तापमान होने के बावजूद प्रदर्शन में तीन हजार से भी ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया। इसे पुतिन के खिलाफ सबसे बड़ा विरोध प्रदर्शन माना जा रहा है।

ये भी पढ़े: पहले तेंदुए को खाया, फिर निकले सौदा करने, पुलिस ने दबोचा तो उठा पर्दा

ये भी पढ़े: सारा अली खान को चिल करते हुए देखा क्या

सरकार के खिलाफ हजारों लोगों ने 70 शहरों में विरोध प्रदर्शनों में भाग लिया। ये प्रदर्शन नवेलनी को जेल में बंद करने को लेकर किए गए। नवेलनी पिछले साल अगस्त में रूस में हुए जानलेवा नर्व एजेंट हमले (जहर देकर मारने की कोशिश) के बाद बर्लिन में रिकवर कर रहे थे। वे रविवार को ही रूस लौटे थे और उन्हें हिरासत में ले लिया गया।

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के सबसे बड़े आलोचक और धुर विरोधी नवेलनी को 17 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था, जब वह जर्मनी से मॉस्को लौटे। जर्मनी में पांच महीने से उनका इलाज चल रहा था। उन्होंने रूस सरकार पर उनको जहर देने का आरोप लगाया है। नवेलनी की रिहाई के लिए देशभर में हो रहे प्रदर्शनों को हाल के सालों में राष्ट्रपति पुतिन के खिलाफ सबसे बड़ा विरोध प्रदर्शन माना जा रहा है।

ये भी पढ़े: 100, 10 व 5 रुपये के नोट को लेकर RBI उठाने जा रहा ये कदम, पढ़ ले ये जरूरी खबर

ये भी पढ़े: CM योगी ने बताया कितनी हुई यूपी में प्रति व्यक्ति आय   

प्रदर्शनकारियों और पुलिस के टकराव की वजह से मॉस्को और सेंट पीटर्सबर्ग सहित कुछ इलाकों में हिंसा के मामले भी सामने आए। रूस की पुलिस ने जहां 2 हजार से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया तो वहीं रैलियां रोकने के लिए भी बल प्रयोग किया गया। साइबेरियाई शहर याकुटस्क में लोग माइनस 50 डिग्री सेल्सियस की ठंड में भी प्रदर्शन कर रहे हैं।

अधिकारियों का कहना है कि जर्मनी में उनके प्रवास से एक आपराधिक मामले में एक निलंबित सजा की शर्तों का उल्लंघन हुआ है, जबकि नवेलनी का कहना है कि उनकी गिरफ्तारी अवैध है। उन्हें फरवरी की शुरुआत में अदालत में पेश होना है कि जब उनकी सजा को लेकर फैसला होगा।

गिरफ्तारी-निगरानी समूह ‘ओवीडी-इन्फो के अनुसार, देशभर के 109 शहरों में अब तक 3100 लोगों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस के मुताबिक, मॉस्को में शनिवार को करीब 4 हजार प्रदर्शनकारी बिना अनुमति के इकट्ठे हुए। पुलिस पर अचानक पानी की बोतलें, अंडे फेके जाने के बाद विवाद पैदा हुआ।

कौन हैं एलेक्सी नवेलनी

एलेक्सी नवेलनी एक भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन चलाने वाले व्यक्ति हैं। उन्हें राष्ट्रपति पुतिन का धुर विरोधी माना जाता है। साल 2018 में उन्होंने पुतिन के खिलाफ चुनाव में उतरने की कोशिश की थी, लेकिन उन्हें एक आरोप में दोषी ठहरा दिया गया और वह चुनाव नहीं लड़ पाए। पिछले साल अगस्त में उनपर नर्व एजेंट हमला किया गया था। इसका आरोप पुतिन पर लगा था। हालांकि सरकार ने इससे इनकार किया था।

ये भी पढ़े: किसानों की रिपब्लिक डे ट्रैक्टर परेड का रास्ता हुआ साफ

ये भी पढ़े: संतान की चाहत में कर डाली थी दस शादी लेकिन एक दिन…

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com