Friday - 5 June 2020 - 6:19 PM

इंजन फेल होने से पाकिस्तान में विमान क्रैश, 99 लोगों की गई जान

जुबिली न्यूज़ डेस्क

लखनऊ. लाहौर से 91 यात्रियों को लेकर कराची जा रहा पाकिस्तान एयरलाइन्स का विमान कराची हवाई अड्डे पर लैंडिंग के समय क्रैश हो गया. इस बड़े विमान हादसे का शिकार यात्रियों के अलावा विमान के आठ क्रू मेंबर भी हुए.

कराची के इस हवाई अड्डे पर इससे पहले 1953 में बड़ी दुर्घटना हुई थी. कराची के इस एयरपोर्ट से कैनेडियन पैसिफिक डीएच-106 उड़ने के कुछ सेकेण्ड बाद ही क्रैश हो गया था. इस हादसे में 11 लोग मारे गए थे.

हवाई अड्डे पर लैंडिंग के दौरान होने वाले विमान हादसों की कई वजहें होती हैं. ज़्यादातर हादसों में पायलट और ट्रैफिक कंट्रोलर के बीच हुई बातचीत में कन्फ्यूज़न मुख्य वजह होती है. कराची में हुए इस विमान हादसे की क्या मुख्य वजह इस विमान के दोनों इंजन फेल हो जाना है. विमान के ब्लैक बॉक्स से पता चला है कि पायलट ने हादसे से ठीक पहले ट्कोरैफिक कंट्रोलर को बताया था कि दोनों इंजन फेल हो चुके हैं. अब हम सीधे जायेंगे. यह बात होते-होते विमान कालोनी में जा गिरा.

कराची हवाई अड्डे के आसपास धुएं का काला गुबार छाया हुआ है. हर तरफ चीख पुकार का माहौल है.

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स का विमान ए-320 पीके 8303 दोपहर एक बजे लाहौर से कराची के लिए रवाना हुआ था. लैंडिंग से ठीक पहले कराची एयरपोर्ट के नज़दीक रिहायशी इलाके माडल कालोनी में गिर गया. विमान गिरने के बाद कालोनी में खड़ीं गाड़ियों में भी आग लग गई.

यह भी पढ़ें : सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मनाएंगे ‘ईद’

यह भी पढ़ें : ये हैं Immune System को स्वस्थ रखने के 7 तरीके

यह भी पढ़ें : सीएम योगी को मिली बम से उड़ा देने की धमकी, एफआईआर दर्ज

यह भी पढ़ें : बिहार की इस बेटी को आखिर क्यों मदद पहुंचाएंगे अखिलेश

जानकारी के अनुसार पाकिस्तान में अब तक 80 से ज्यादा विमान हादसे हो चुके हैं. जिनमें करीब एक हजाए लोगों की जान गई है.

 

विमान लैंडिंग के दौरान हुए प्रमुख हादसे

 

हवाई अड्डे पर लैंडिंग के दौरान इससे पहले भी कई बड़े हादसे सामने आये हैं. वर्ष 2018 में नेपाल की राजधानी काठमांडू में बांग्लादेश का यात्री विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था. त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हुए इस हादसे में 49 यात्रियों की मौत हुई थी. इसी साल तुर्की एयरपोर्ट के रनवे से पेगासस एयरलाइन्स का बोईंग विमान रनवे से उतरकर समुद्र के किनारे पर लटक गया था. विमान में 168 यात्री सवार थे. सभी को सुरक्षित बचा लिया गया था.

वर्ष 2013 में लाओ एयरलाइन्स का विमान लैंडिंग के वक्त मेकांग नदी में गिर गया था. इस दुर्घटना में 49 यात्रियों की मौत हो गई थी.

वर्ष 1979 में न्यूजीलैंड का विमान लैंडिं से पहले अन्टार्कटिका पर्वत से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. इस दुर्घटना में 257 यात्रियों की जान चली गई थी.

वर्ष 1980 में सऊदी अरब में रनवे पर दुर्घटनाग्रस्त हुए विमान में 301 लोगों को जान गंवानी पड़ी थी.

वर्ष 1994 में जापान के नगोया एयरपोर्ट पर लैंडिंग के वक्त चाइना एयरलाइन्स का विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था. जिसमे 264 लोगों की जान गई थी.

वर्ष 1962 में पेरिस के ओर्ली एयरपोर्ट पर फ्रांस का बोईंग 707 उड़ान भरने के फ़ौरन बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. इस हादसे में भी 130 लोगों की मौत हुई थी.

वर्ष 1991 में सऊदी अरब से उड़ान भरते ही नाईजीरिया का विमान क्रैश हो गया था. विमान में सवार 261 तीर्थयात्री मक्का की यात्रा पर थे. सभी की इस हादसे में मौत हो गई थी.

वर्ष 1979 में शिकागो से उड़ान भरने के फ़ौरन बाद अमेरिका एयरलाइन्स का विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था. इस हादसे में 273 यात्रियों ने अपनी जान गंवाई थी.

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com