Thursday - 29 October 2020 - 8:08 PM

World Food Day 2020: ये है दुनिया की सबसे महंगी सब्जी, कीमत 80,000/kg

जुबिली न्यूज़ डेस्क

हर साल 16 अक्टूबर को वर्ल्ड फूड डे मनाया जाता है। खाद्य और कृषि संगठन के सदस्य वाले देशों ने नवंबर 1979 को हुए 20 वें महासम्मलेम में वर्ल्ड फूड डे की स्थापना की। और 16 अक्टूबर 1981 को वर्ल्ड फूड डे मनाने की शुरुआत की।

इस दिन को भूख से पीड़ित लोगों के लिए जागरूकता फैलाने के उदेश्य मनाया जाता है। फूड और भूखमरी से जुड़े कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। जिसमें लोगों को खाद्य सुरक्षा और पौष्टिक आहार की आवश्यकता के बारे में जानकारी दी जाती है।

यह भी पढ़ें : बलिया गोलीकांड: गिरफ्तार होने के बाद कैसे भागा आरोपी, किस नेता का खास है धीरेंद्र

आज हम आपको दुनिया की सबसे महंगी सब्जी के विषय में बताने जा रहे हैं। यूं तो कोई भी खाना हरी सब्जियों के बिना पूरा नहीं होता है, लेकिन बात अगर दुनिया की सबसे महंगी सब्जी की हो तो। आप सोच रहे होंगे इसकी कीमत बहुत ज्यादा 500 या 1000 रुपए प्रति किलो होगी। जी नहीं, दुनिया की सबसे महंगी सब्जी का जायका लेने के लिए आपको पूरे 80 हजार रुपए खर्च करने पड़ेगे। इस अनोखी सब्जी का नाम ‘हॉप शूट्स’ है।

यह ऐसी सब्जी है जो आपको शायद ही किसी स्टोर पर या बाजार में दिखे। इसका कारण यह है कि इसकी खेती बीयर में इस्तेमाल करने के लिए की जाती है। इसका जो फूल होता है उसे ‘हॉप कोन्स’ कहते हैं। उस फूल का इस्तेमाल बीयर में किया जाता है। बाकी उसकी टहनी को कई तरह से खाया जा सकता है।

बता दें कि करीब 800 ईस्वी के आसपास इसके गुण का पता चला कि बीयर का स्वाद इसके मिलाने से बेहतर हो जाता है। सबसे पहले उत्तरी जर्मनी के किसानों ने बीयर का स्वाद बढ़ाने के लिए इसकी खेती शुरू की। उन दिनों बीयर बनाने के लिए कई कड़वे खरपतवारों और दलदली क्षेत्र में पैदा होने वाले पौधों का इस्तेमाल किया जाता था। उन पर टैक्स भी लगता था।

यह भी पढ़ें : बर्थडे स्पेशल : ड्रीमगर्ल के लिए इन अभिनेताओं का धड़कता था दिल

1710 में इंग्लैंड की पार्लियामेंट ने हॉप्स पर टैक्स लगाया। यह भी अनिवार्य कर दिया गया कि सभी बीयर बनाने में हॉप का ही इस्तेमाल हो। तब से अब तक बीयर का स्वाद बढ़ाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।

यह भी पढ़ें : छह सालों में संसद में प्रधानमंत्री मोदी कितनी बार बोले?

हॉप का इस्तेमाल जड़ी-बूटी के तौर पर भी किया जाता है। सदियों से इसका इस्तेमाल दांत के दर्द को दूर करने से लेकर टीबी के इलाज तक में होता रहा है।

हॉप में ऐंटीबायॉटिक की प्रॉपर्टी पाई जाती है। इसको कच्चा भी खाया जा सकता है। लेकिन काफी कड़वा होता है। हॉप की टहनियों का इस्तेमाल प्याज की तरह सलाद में भी किया जा सकता है। इसको आप ग्रिल करके भी खा सकते हैं या फिर इसका आचार भी बना सकते हैं।

उत्पादन कब और किस मौसम में किया जा सकता है

हॉप शूट्स सदाबहार सब्जी है जो साल भर उगाई जा सकती है। लेकिन ठंडी के मौसम को इसके लिए ठीक नहीं माना जाता है। मार्च से लेकर जून तक इसकी खेती के लिए आदर्श समय माना जाता है। इसके लिए नमी और सूर्य के प्रकाश की जरूरत होती है। इस माहौल में इसका पौधा तेजी से बढ़ता है और एक दिन में इसकी टहनियां 6 ईंच तक बढ़ जाती हैं। शुरुआत में इसकी टहनियां बैंगनी रंग की होती हैं लेकिन बाद में हरी हो जाती हैं।

यह भी पढ़ें : लॉकडाउन में नौकरी गंवाने वालों के लिए सरकार ला रही है ये योजना

यह भी पढ़ें : असम : डिटेंशन सेंटर के बाद मदरसों पर वार

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com