Wednesday - 2 December 2020 - 6:02 PM

त्योहारी सीजन से पहले छोटे उद्योगों के लिए आयी ये खुशखबरी

जुबिली न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली। केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों ने पिछले पांच माह के दौरान सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उपक्रमों का 13,400 करोड़ रुपए का बकाया चुकाया है। इसमें से 3,700 करोड़ रुपए का भुगतान सितंबर महीने में किया गया है।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि एमएसएमई मंत्रालय ने इस महीने 2,800 कंपनियों के शीर्ष प्रबंधन को पत्र लिखकर एमएसएमई का बकाया चुकाने को कहा है। पिछले महीने मंत्रालय ने देश की शीर्ष 500 कंपनियों को एमएसएमई का बकाया चुकाने के लिए पत्र लिखा था।

ये भी पढ़े: घर में हो ऐसा माहौल तो लक्ष्मी जी रहती हैं मेहरबान

ये भी पढ़े: प्राइवेट होने वाले सरकारी बैंकों में सरकार का नहीं होगा दखल!

अपने ताजा पत्र में एमएसएमई मंत्रालय ने कहा है कि इस समय भुगतान करना काफी महत्वपूर्ण होगा। इससे छोटे उपक्रम त्योहारी सीजन के दौरान कारोबारी अवसरों का लाभ उठा सकेंगे। यदि एमएसएमई क्षेत्र को नकदी का प्रवाह सुधरेगा, तो वह इस त्योहारी सीजन के दौरान वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति के अवसर का लाभ उठा सकेगा।

एमएसएमई पूरे साल इस समय का इंतजार करते हैं। ऐसे में समय पर भुगतान से एमएसएमई और उन पर निर्भर लोगों को न केवल त्योहारी सीजन में ही फायदा मिलेगा, बल्कि इससे कई को पूरे साल के लिए राहत मिल सकेगी।

ये भी पढ़े: किसको देखकर ख़ुशी से कूदने लगी शिल्पा, देखें वीडियो

ये भी पढ़े: भैंस पर सवार होकर चुनाव प्रचार करना नेताजी को पड़ा महंगा

ऐसे में मंत्रालय ने कंपनियों से कहा है कि वे एमएसएमई को जल्द से जल्द भुगतान करने के लिए कदम उठाएं। बेहतर होगा कि वे इसी महीने उनका भुगतान करें। इसके अलावा मंत्रालय ने उद्योग जगत का ध्यान एमएसएमई के भुगतान के लिए महत्वपूर्ण प्रशासनिक, कानूनी और फिनटेक आधारित प्रावधानों की ओर भी दिलाया है।

इन प्रावधानों के तहत कहा गया है कि उचित होगा कि एमएसएमई का भुगतान निर्धारित समय में किया जाए। एमएसएमई को नकदी प्रवाह की समस्या के समाधान को रिजर्व बैंक ने ट्रेड्स रिसीवेबल डिस्काउंटिंग सिस्टम (टीआरईडीएस) की शुरुआत की है।

मंत्रालय ने कहा कि 500 करोड़ रुपये से अधिक के कारोबार वाले सभी सीपीएसई और कंपनियों के लिए इस मंच से जुड़ना अनिवार्य है। हालांकि, बहुत सी कंपनियां अब तक इस मंच से नहीं जुड़ी हैं। मंत्रालय ने उद्योग जगत से कहा है कि वे इस बात की जांच करें कि उनका समूह या कंपनियां टीआरईडीएस मंच जुड़ी हैं या नहीं।

ये भी पढ़े: महिलाओं के सम्मान में मामा मैदान में, देखें VIDEO

ये भी पढ़े: क्या विधायक सुरेद्र सिंह पर कार्रवाई करेगा बीजेपी आलाकमान

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com