Thursday - 2 February 2023 - 12:46 PM

महिलाओं के सम्मान में मामा मैदान में, देखें VIDEO

जुबिली न्‍यूज डेस्‍क

मध्य प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा दिए गए बयान पर बवाल जारी है। इस पूरे बयान पर भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी इमरती देवी ने कहा है कि वो इस मामले में कानूनी एक्शन लेंगी। उन्होंने कहा कि क्योंकि मैं दलित जाति से हूं, इसलिए इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल किया गया।

दूसरी ओर इस मामले ने राजनीतिक पारा और बढ़ा दिया है। एमपी में हो रहे उपचुनाव के बीच सीएम शिवराज सिंह चौहान मौन व्रत पर बैठ गए हैं और कांग्रेस को घेर रहे हैं।

वहीं मायावती ने भी ट्वीट कर बयान दिया है और कहा कि मध्यप्रदेश में ग्वालियर की डाबरा रिजर्व विधानसभा सीट पर उपचुनाव लड़ रही दलित महिला के बारे में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व सीएम द्वारा की गई घोर महिला-विरोधी अभद्र टिप्पणी अति-शर्मनाक व अति-निन्दनीय। इसका संज्ञान लेकर कांग्रेस आलाकमान को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए।

यह भी पढ़ें : जरूरत से ज्यादा अन्न भंडार फिर भी भुखमरी

यह भी पढ़ें :  बिहार चुनाव: परिवारवाद से उबर नहीं पाई पार्टियां

मायावती ने आगे लिखा कि कांग्रेस पार्टी को इसका सबक सिखाने व आगे महिला अपमान करने से रोकने आदि के लिए भी खासकर दलित समाज के लोगों से अपील है कि वे एम.पी. में विधानसभा की सभी 28 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में अपना वोट एकतरफा तौर पर केवल बीएसपी उम्मीदवारों को ही दें तो यह बेहतर होगा।

इससे पहले कांग्रेस नेताओं के बयानों पर इमरती देवी बोलीं कि मैं कानूनी कार्रवाई करूंगी, मैं कांग्रेस के बयानों से डरकर नहीं बैठूंगी। अगर कांग्रेस पार्टी की ओर से महिलाओं के लिए ऐसा बयान दिया जाएगा, तो महिलाएं किस तरह आगे बढ़ेंगी।

इमरती देवी ने कहा कि कमलनाथ जी को शब्दों का ज्ञान नहीं हैं, एक दलित महिला के लिए इस तरह की बयानबाजी की जा रही है। इमरती देवी ने आरोप लगाया कि कमलनाथ जी ने हमारी विधानसभा के लिए कुछ नहीं किया, मैं जनता की लड़ाई लड़ रही हूं।

बीजेपी नेता ने कहा कि जहां बयान दिया गया वो एक एससी सीट है, वहां कमलनाथ जी खुले शब्दों में कह रहे हैं तो किसे कह रहे हैं, क्या इनके घर में बहन-बेटी नहीं हैं। वहां अजय जी ने कहा कि इमरती को जलेबी बना दो, क्या मेरे नाम पर भी मज़ाक बनाएंगे।

यह भी पढ़ें :  बीजेपी में नहीं है ‘नेपोटिज्म’? 

यह भी पढ़ें :  इस ब्लड ग्रुप वालों को कोरोना वायरस से नहीं है ज्यादा खतरा 

इमरती देवी ने सोनिया गांधी से अपील करते हुए कहा कि कमलनाथ को पार्टी से निकाल देना चाहिए और मध्य प्रदेश से बाहर करना चाहिए। मैंने बीस साल तक कांग्रेस की सेवा की है। इमरती देवी बोलीं कि हमें ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राजनीति में मौका दिया, इसलिए हम उनके साथ भाजपा में आ गए।

आपको बता दें कि एक चुनावी सभा के दौरान पूर्व सीएम कमलनाथ ने प्रत्‍याशी इमरती देवी के लिए अपने भाषण में ‘आइटम’ शब्‍द का प्रयोग किया। हालांकि कांग्रेस का कहना है कि बीजेपी गलत तरीके से बयान को तोड़मरोड़ रही है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com