Saturday - 26 September 2020 - 8:22 AM

लंदन से रोम की दूरी के बराबर बनेगी साइकिल लेन

कोविड-19 ने दुनिया को वायु प्रदूषण कम करने के लिए एकदम से जागरूक बना दिया है. लोगों का कहना है कि वे मौजूदा हालात में वायु प्रदूषण के पूर्व-महामारी के स्तर को नहीं देखना चाहते हैं. यहाँ तक कि यूरोप जैसे विकसित देशों में रहने वाले अपने शहरों में कारों की जगह साइकिल से चलने लगे हैं और कारों का विरोध करते नजर आ रहे हैं. इस बदलाव के मद्देनजर संयुक्त राष्ट्र ने आगामी 7 सितम्बर को पहला “अंतर्राष्ट्रीय क्लीन एयर डे”  घोषित किया है.

लोगों की सोच में आये इस बदलाव से दुनिया में अधिकांश जगह वायु प्रदूषण की समस्या को राहत मिलती नजर आ रही है. लोग साइकिल से चलने लगे हैं और दुनिया भर के शहर इस शिफ्ट का समर्थन करने के लिए तेजी से आगे बढ़े हैं. जब से महामारी शुरू हुई 2,000 किमी से अधिक नई साइकिल लेनों की घोषणा की गई, यह फासला लंदन से रोम की दूरी के बराबर है.

गौरतलब है कि कोविड-19 महामारी के जवाब में दुनिया भर के शहर लॉकडाउन में चले गए, दुनिया भर के लोगों ने कम औद्योगिक गतिविधि और परिवहन संस्करणों से हवा की गुणवत्ता में सुधार के परिणामस्वरूप स्पष्ट, नीले आसमान को देखा.

यूरोप में लगभग दो-तिहाई लोगों ने कहा कि वे वायु प्रदूषण के पूर्व-महामारी के स्तर पर वापस नहीं लौटना चाहते हैं, और 68 फीसदी लोगों का कहना है कि वे वायु प्रदूषण को कम करने वाली नीतियां – जिनमे शहर के केंद्रों में कारों पर प्रतिबंध लगाना चाहते हैं.

लोग साइकिल चलाना और पैदल चलना बड़ी संख्या में पसंद कर रहे हैं – कोविड-19 महामारी के परिणामस्वरूप कई देशों में साइकिल और अन्य सक्रिय यात्रा मोड में ‘विस्फोट‘ हुआ. मिसाल के तौर यूनाइटेड किंगडम में, 5 फीसदी उपभोक्ताओं ने लॉकडाउन के दौरान एक साइकिल खरीदी.

दुनिया भर में, सार्वजनिक स्थान के उपयोग की पुनः कल्पना करने के लिए शहर तेजी से आगे बढ़ रहे हैं, साइकिल चलाने और चलने के लिए अधिक स्थान बना रहे हैं, ताकि पड़ोस को रहने लायक बना सकें और सामाजिक दूरी बनाए रखने में मदद कर सकें.

लंदन से रोम की दूरी के बराबर 2,082 किमी से अधिक साइकिल लेन की वैश्विक रूप से घोषणा की गई और 245 शहरों में 500 से अधिक उपक्रमों ने महामारी के दौरान गतिशीलता में सुधार का समर्थन करना शुरू कर दिया है.

यह भी पढ़ें : अब ज्वाला का इस एक्टर के लिए धड़का दिल

यह भी पढ़ें : कांग्रेस की कोर कमेटी से राज बब्बर और जितिन प्रसाद क्यों किए गए बाहर

यह भी पढ़ें : पूर्व विधायक की हत्या पर अखिलेश ने क्या कहा ?

यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : कोरोना से ज्यादा खतरनाक है यह वायरस

स्वस्थ और हरित आर्थिक सुधार का समर्थन करने के माध्यम से, साइक्लिंग बुनियादी ढांचे का विस्तार कोविड युग के बाद की मांगों को पूरा करता है.

एक्टिव मोबिलिटी से उत्सर्जन में कमी – यूरोपीय संघ में इस बदलाव के परिणामस्वरूप अनुमानित रूप से 27 मिलियन टन CO2 इमिशन की कमी, या हर साल सात कोयले से चलने वाले बिजली संयंत्रों के उत्सर्जन में कमी आएगी.

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com