Thursday - 4 March 2021 - 3:23 PM

कोरोना : अमेरिका में गैर अमेरिकी लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध

जुबिली न्यूज डेस्क

एक ओर कोरोना वायरस का दुनिया के अधिकांश देशों में टीकाकरण चल रहा है तो वहीं दूसरी ओर कोरोना के कहर से कई देश परेशान हैें।

अमेरिका में भी कोरोना वायरस का टीकारण चल रहा है लेकिन कोरोना के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। कोरोना पर अब तक नियंत्रण कर पाने में अमेरिका नाकाम रहा है।

फिलहाल कोरोना संक्रमण को देखते हुए राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पिछले सप्ताह मास्क पहनने के नियम को सख्त करने के साथ अमेरिका आने वाले यात्रियों के लिए क्वारंटीन करने का आदेश दिया था।

बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों को देखते अब अमेरिकी सरकार कोविड-19 संबंधित यात्रा प्रतिबंधों को फिर से लागू करने जा रही है।

व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने कहा है कि राष्ट्रपति जो बाइडेन कोविड-19 संबंधित यात्रा प्रतिबंधों को फिर से लागू करेंगे। यह प्रतिबंध अधिकतर गैर अमेरिकी लोगों के अमेरिका में प्रवेश पर लगाया जाएगा।

ये भी पढ़े: पार्थो दासगुप्ता का दावा, अर्नब ने दिए मुझे 40 लाख रुपए 

अधिकारी के मुताबिक ब्रिटेन, ब्राजील, आयरलैंड और यूरोप के बहुत से भागों से आने वाले गैर अमेरिकी लोगों के अमेरिका में प्रवेश पर यात्रा प्रतिबंध दोबारा लागू होगा। नया प्रशासन कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए तेजी से कदम उठा रहा है और यात्रा प्रतिबंध भी उसी से जुड़ा है।

अधिकारी ने कहा इसी के साथ राष्ट्रपति जो बाइडेन हाल ही में दक्षिण अफ्रीका से आने वाले यात्रियों पर भी प्रतिबंध के विस्तार करने की घोषणा करेंगे।

अमेरिका में यह चेतावनी दी जा रही है कि कोरोना वायरस का नया संस्करण तेजी से देश में पैर पसार रहा है। इस अधिकारी ने अमेरिकी मीडिया के रिपोर्टों की पुष्टि की है, जिनमें कहा गया है कि नया संस्करण देश में फैल रहा है।

ये भी पढ़े: अप्रैल में भारत में हर घंटे 1.70 लाख लोगों की गई नौकरी

ये भी पढ़े: राहुल का मोदी पर तंज, कहा-किसानों का जीवन बर्बाद…

जो बाइडेन ने उठाए सख्त कदम

नए राष्ट्रपति ने पिछले हफ्ते ही मास्क पहनने के नियमों को सख्त किया था और बाहर से आने वाले यात्रियों के लिए क्वारंटीन के आदेश दिए थे।

राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा था कि कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 4,20,000 से बढ़कर अगले महीने पांच लाख तक पहुंच जाएंगी और इसीलिए इस तरह की कार्रवाई की जरूरत है।

पिछले गुरुवार को बाइडन ने कहा था, “इस वक्त हम राष्ट्रीय आपातकाल में है और इसका पालन किया जाए।”

वहीं अपने कार्यकाल के आखिरी दिनों में ट्रंप ने कहा था कि ब्राजील और यूरोप के अधिकतर भागों से आने वाले यात्रियों से यात्रा प्रतिबंध हटा लिया जाएगा। हालांकि बाइडेन प्रशासन ने इसका विरोध करते हुए कहा था कि यात्रा प्रतिबंधों को नहीं हटाया जाएगा। ट्रंप का आदेश 26 जनवरी से लागू होने वाला था।

ये भी पढ़े: 100 रुपये के पुराने नोटों को लेकर आरबीआई ने दिया ये जवाब

ये भी पढ़े: क्या नड्डा की रणनीति से मजबूत होगी बीजेपी    

ट्रंप ने 31 जनवरी 2020 को गैर अमेरिकी लोगों के चीन से अमेरिका में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था। ऐसा उन्होंने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए किया था।

14 मार्च को यूरोपीय देशों पर प्रतिबंध का विस्तार कर दिया गया था उस वक्त कोरोना महामारी पूरी ताकत के साथ फैल रही थी। महामारी के फैलने के बाद से अब तक अमेरिका में 25 लाख मामले सामने आ चुके हैं।

जो बाइडेन ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को प्राथमिकता दी है और संसद पर 1.9 लाख करोड़ डॉलर के राहत पैकेज को मंजूरी देने के लिए जोर दे रहे हैं।

कोविड-19 के लिए खर्च होने वाले पैसे में करीब 20 अरब डॉलर सिर्फ टीकाकरण को ज्यादा मजबूती से फैलाने पर खर्च होगा। 20 जनवरी को शपथ लेने के बाद बाइडेन ने कहा था कि उन्होंने अपने 100 दिन के कार्यकाल में 10 करोड़ वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने जनता से अगले 100 दिन तक मास्क लगाने की अपील की है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com