हामिद अंसारी के बयान पर छिड़ा विवाद

जुबिली न्यूज डेस्क

देश के पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का एक बयान विवादों में आ गया है।

अंसारी ने एक कार्यक्रम के दौरान चुनावी बहुमत को परोक्ष रूप से धार्मिक बहुमत और राजनीतिक एकाधिकार से हासिल हुआ बहुमत बताया।

इसके साथ ही उन्होंने देश में असहिष्णुता, अशांति और असुरक्षा बढऩे की बात कही।

पूर्व उपराष्ट्रपति  26 जनवरी को भारतीय अमेरिकी मुस्लिम काउंसिल के एक वर्चुअल कार्यक्रम में बोल रहे थे।  उन्होंने हिंदू राष्ट्रवाद को लेकर अपनी चिंताएं भी जाहिर कीं।

यह भी पढ़ें :  ‘टीपू सुल्तान के बारे में भाजपा से हमें जानने की जरूरत नहीं’ 

यह भी पढ़ें :   दिल्ली : महिला को अगवा कर किया गैंगरेप, कालिख पोतकर घुमाया

यह भी पढ़ें :   दिल्ली : वीकेंड कर्फ्यू खत्म, जानिए और क्या हुए हैं फैसले

अंसारी ने कहा, ”भारत में करीब 20 प्रतिशत लोग धार्मिक अल्संख्यक हैं। हाल के सालों में हमने अलग तरह की प्रवृतियां और व्यवहार देखा है जो नागरिक राष्ट्रवाद के पहले से स्थापित सिद्धांत पर विवाद करते हैं और सांस्कृति राष्ट्रवाद के एक नए और काल्पनिक सिद्धांत को जोड़ते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, ”यह एक धार्मिक बहुमत और एकाधिकार वाली राजनीतिक शक्ति की आड़ में चुनावी बहुमत पेश करना चाहता है। यह नागरिकों को उनके विश्वास के आधार पर अलग करना चाहता है, असहिष्णुता, अशांति और असुरक्षा को बढ़ावा देना चाहते हैं।”

हामिद अंसारी ने कहा,”हाल में हुईं इसकी कुछ अभिव्यक्तियां डराने वाली हैं। कानून के शासन के दावे को कमजोर करती हैं। यह एक ऐसा सवाल है जिसका जवाब देना होगा। इन प्रवृतियों से कानूनी रूप से और राजनीतिक रूप से लडऩे की जरूरत है।”

अब अंसारी के बयानों पर ही नहीं बल्कि जिस काउंसिल के वो कार्यक्रम में शामिल हुए उसे लेकर भी सवाल उठाए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें :  कोरोना : भारत में बीते 24 घंटे में संक्रमण के 2.86 लाख नए केस, 573 मौत

यह भी पढ़ें : पार्टी से निकाले गए उत्तराखंड कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष, भाजपा में जाने की अटकलें

यह भी पढ़ें :  दिल्ली विश्वविद्यालय में खुलेगी ‘गौशाला’

त्रिपुरा सरकार ने उच्चतम न्यायलय में दाखिल किए गए शपथ पत्र में भारतीय अमेरिकी मुस्लिम काउंसिल पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई और अन्य उग्रवादी संगठनों से संबंध होने का आरोप लगाया था।

हालांकि, काउंसिल ने त्रिपुरा सरकार के इस दावे को खारिज कर दिया था।

पूर्व उपराष्ट्रपति के बयान पर भाजपा ने प्रतिक्रिया दी है। बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ”मोदी की आलोचना करने का पागलपन अब भारत की आलोचना करने की साजिश में बदल गया है। जो लोग अल्पसंख्यकों के वोट का शोषण करते थे, वे अब देश के सकारात्मक माहौल से परेशान हैं।”

इसके अलावा जदयू नेता अजय आलोक ने भी ट्वीट कर कहा, ”मियां हामिद अंसारी जी का वक्तव्य शर्मनाक है। पहले पाकिस्तान के भारतीय मुसलमानों के बारे में बोलते जिन्हें आज तक मोहाजिर कहा जाता है। भारत अगर हिंदू राष्ट्र बन गया, नरेंद्र मोदी जी ने बना दिया तो किस दल की हिम्मत होगी की भविष्य में बदल दे।”

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com