Thursday - 4 March 2021 - 3:58 PM

अजीत हत्याकांड: पुलिस को मिली कामयाबी, एक शूटर गिरफ्तार

जुबिली न्यूज़ डेस्क

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 6 जनवरी को गोमती नगर के विभूति खंड इलाके में हुए गैंगवार मामले में पुलिस ने एक शूटर प्रदीप उर्फ संदीप सिंह उर्फ बाबा को गिरफ्तार किया है।

बीते कुछ दिनों पहले गैंगवार में मारे गए पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या मामले में पुलिस ने शूटर प्रदीप सिंह उर्फ बाबा को किया गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार 6 शूटरों ने मिलकर इस घटना को अंजाम दिया था, जिन्होंने अजीत पर 23 गोलियां चलाई थी।

ये भी पढ़े: शिवपाल ने कर दिया है बड़ा ऐलान, क्या मान जाएंगे अखिलेश

ये भी पढ़े: किसने कहा चिकेन- अंडे खायें मगर संभलकर, क्या है गाइडलाइंस

पुलिस के अनुसार हत्याकांड का प्रमुख आरोपी चंदौली निवासी शूटर प्रदीप सिंह उर्फ बाबा को लखनऊ की पुलिस टीम ने गिरफ्तार किया है। प्रदीप सिंह उर्फ बाबा पर 15 आपराधिक मामले दर्ज है। पुलिस ने प्रदीप के पास से पुलिस ने 1 पिस्टल और 5 ज़िंदा कारतूस बरामद किये है।

पुलिस के अनुसार ये शूट का संबंध पश्चिमी यूपी के कुख्यात माफिया सरगना प्रमुख सुनील भाटी के गैंग से है। घटना के दौरान घायल शूटर भी इसी गैंग का बताया जा रहा है।

Image

बता दे कि मामला विभूतिखंड में कठौता पुलिस चौकी के सामने लखनऊ में 6 जनवरी की रात को अजीत सिंह की गोली मारकर हत्‍या कर दी गई। वह आजमगढ़ के पूर्व विधायक सीपू सिंह हत्‍याकांड का गवाह था। चार दिन बाद विधायक हत्‍याकांड में इसकी गवाही होनी थी। ऐसे में पुलिस मामले को गैंगवार से जोड़ देखा।

ये भी पढ़े: कोरोना की तरह इसे कब गंभीरता से लेंगी सरकारें

ये भी पढ़े: विधानपरिषद चुनाव : सियासी रिस्क पर भारी पड़ा अखिलेश का आत्मविश्वास

Image

Image

मृतक अजीत मऊ के गोहना मोहम्‍मदाबाद ब्‍लॉक प्रमुख का प्रतिनिधि भी था। अजीत मूलरूप से मोहना मोहम्मदाबाद, मऊ के रहने वाले थे और आजमगढ़ में हुई पूर्व विधायक सीपू सिंह की हत्या में गवाह थे। वह बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के करीबी था।

गोलीबार में अजीत का साथी मोहर सिंह और वहां से गुजर रहे ग्‍वारी गांव निवासी डिलिवरी ब्‍वॉय प्रकाश को गोली लगी, जिन्‍हें लोहिया अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था।

पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर के मुताबिक हमलावर अजीत के परिचित थे। दोनों तरफ से गोलियां चली हैं। लगभग 25- 30 राउंड फायरिंग हुई है। मृतक अजीत पर करीब 18 मुकदमे दर्ज थे। पुलिस टीम हमलावरों की तलाश कर रही थी। जिसमें अब जाकर सफलता मिली।

ये भी पढ़े: VIDEO : हम तेजस्वी यादव बोल रहे हैं…फिर बदल गए DM के सुर

ये भी पढ़े: प्रेमी को बर्बाद करने के लिए प्रेमिका ने रची थी ये कहानी

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com