Thursday - 4 March 2021 - 2:41 PM

प्रेमी को बर्बाद करने के लिए प्रेमिका ने रची थी ये कहानी

जुबिली न्यूज़ डेस्क

इंदौर। आधुनिकता की अंधी दौड़ में तेजी से भाग रहे इंदौर में मंगलवार रात को इंदौर पुलिस के सामने एक ऐसी शिकायत आई थी जिसको लेकर प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने भी सोशल मीडिया के जरिये कई सवाल उठाए थे लेकिन अब पुलिस कथित गैंग रेप के सवालों के जबाव ढूंढने के बाद इस नतीजे पर पहुंची है कि युवती ने अपने प्रेमी को फंसाने के लिए गैंगरेप की झूठी कहानी रची थी।

दरअसल 24 घंटे पहले इंदौर में एक सनसनीखेज वारदात सामने आई थी और 18 वर्षीय फर्स्ट ईयर की छात्रा का आरोप था कि उसके साथ सुनियोजित तरीके से पहले अपहरण कर गैंग रेप की वारदात को अंजाम दिया गया और बाद में उसे बोरे में बंद कर 5 आरोपियों ने उसे मारने की कोशिश की थी।

ये भी पढ़े: अशोक गहलोत बन सकते हैं राहुल गांधी के उत्तराधिकारी

ये भी पढ़े: 2022 के चुनावी रण में कितना असर दिखाएगी समाजवादी पार्टी की रणनीति ?

इस सनसनीखेज वारदात के सामने आने के प्रदेश सरकार और इंदौर की कानून व्यवस्था पर कई सवाल खड़े हुए थे, जिसका जबाव इंदौर पुलिस ने दे दिया और आईजी हरिनारायण मिश्र ने मामले में ऐसे खुलासे किये है जो चौंकाने वाले है।

इंदौर आईजी हरिनारायण मिश्र के मुताबिक महिला अपराधों को लेकर पुलिस बहुत संवेदनशील है और इंदौर में 2019 के मुकाबले 2020 में लगभग 25-30% तक अलग- अलग अपराधों में कमी भी आई है।

इस कड़ी में मंगलवार को एक बड़ा संवेदनशील मामला सामने आया था, जिसमें युवती ने कई तरह की शिकायतें की जिसके बाद 4- 5 लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई। लेकिन पीड़िता की कहानी में थोड़ा हेर फेर लग रहा था शक हुआ तो पुलिस ने पूरे मामले को अत्यंत गम्भीरता से लिया।

ये भी पढ़े: चीनी कोरोना वैक्सीन लगवाने को तैयार नहीं पाकिस्तानी

ये भी पढ़े: अमेजॉन प्राइम की मुश्किलें बढ़ी, अब ‘मिर्जापुर’ पर नोटिस

पुलिस टीम ने घटना को लेकर रातभर काम किया। घटना के संबंध में 150 के करीब सीसीटीवी फुटेज निकाले गए। सभी तथ्यों का बारीकी से परीक्षण किया गया और अंत मे जो भी निष्कर्ष सामने आए उसके हिसाब से कहा जा सकता है कि घटना सही नहीं पाई गई है। सारे के सारे साक्ष्य, तथ्य, सीसीटीवी फुटेज, मेडिकल परीक्षण से जुड़ी सारी चीजें लड़की के खिलाफ भी नजर आई। अब पुलिस उलटा लड़की पर मामला दर्ज करने की तैयारी कर रही है।

दरअसल इंदौर में मंगलवार को परदेशीपुरा थाना क्षेत्र में हुए गैंगरेप में एक बड़ा खुलासा हुआ है। महज 24 घंटों की पुलिस जांच में पाया गया कि युवती ने युवकों पर गैंगरेप के जो आरोप लगाए थे वे झूठे हैं और जो कहानी निकल कर सामने आई वह यह है कि युवती ने अपने प्रेमी को फंसाने के लिए गैंगरेप की झूठी कहानी गढ़ी थी।

पुलिस के अनुसार युवती ने अपने पूर्व प्रेमी को फंसाने के लिए झूठी कहानी रची थी। युवती ने बयान में पहले 4 युवकों द्वारा गैंगरेप की बात कही तो बाद में 5 युवकों का नाम लिया। इसके अलावा युवती का मेडिकल टेस्ट भी कराया गया था, जिसमें दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई। उसने पूछताछ में झूठे आरोप लगाने की बात कबूल कर ली है, अपने पूर्व प्रेमी से बदला लेने के लिए ही उसने यह साजिश रची थी।

युवती के अनुसार मंगलवार देर शाम वह परदेशीपुरा में कोचिंग जाते वक्त पहचान के एक दोस्त के साथ बाइक पर बैठकर गई थी। दोस्त उसे नंदीग्राम स्थित एक फ्लैट पर ले कर गया, जहां उसने दोस्तों के साथ मिलकर गैंगरेप किया। 4 लड़कों ने गैंगरेप के बाद उसे मारने की कोशिश की।

फिर उसे बोरे में भर कर रेलवे ट्रेक पर फेंक दिया। जहां से वह किसी तरह बचकर निकली और एमवाय हॉस्पिटल पहुंची। इसके बाद पुलिस ने मामले में एक्शन लेते हुए आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया था। लेकिन युवती से पूछताछ के दौरान शक हुआ और सारे का सारा सच सामने आ गया।

ये भी पढ़े: CM योगी ने बताया कैसे बचायी जा सकती है जान 

ये भी पढ़े: अनाज भंडारण के लिए ये कदम उठाने जा रही योगी सरकार

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com