Thursday - 29 October 2020 - 1:14 AM

इन मासूम बच्चों पर क्यों हुई FIR, वजह जान हर कोई हैरान

जुबिली न्यूज़ डेस्क

लखनऊ। बड़े- बड़े अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई में नाकाम रहने वाली यूपी पुलिस की एक और करतूत सामने आई है। मैनपुरी पुलिस ने 4 और 6 साल के दो मासूमों पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। जिसके चलते पीड़ित बच्चों की मां ने सूूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगाई है।

‌मामला उत्तर प्रदेश के मैनपुरी के थाना किशनी क्षेत्र के ग्राम बसैत का है। जहां आपसी बंटवारे को लेकर हुई कहासुनी को लेकर गांव निवासी अंशुल चतुर्वेदी का अपने सगे भाई चक्रेश उर्फ मोनू चतुर्वेदी का छत का लिंटर काटने को लेकर विवाद हो गया।

ये भी पढ़े: महिलाओं की सबसे महंगी लौन्जरी बनाने वाली कंपनी की नींव है एक पुरुष की फंतासी

ये भी पढ़े: इस मामले में वोडाफोन के पक्ष में आया फैसला, सरकार को झटका

फिर अंशुल चतुर्वेदी की पत्नी रीतू चतुर्वेदी ने अपने देवर के अलावा देवरानी संगीता और उनके दोनों मासूम पुत्रो के नाम तहरीर लिख के पुलिस को शिकायत दी जिसमें दो मासूम ओमजी उर्फ आदर्श चतुर्वेदी उम्र 4 वर्ष व आयुष उर्फ कन्हैया चतुर्वेदी उम्र 6 वर्ष लाठी डंडों से मारपीट व ईंट पत्थर चलाए जाने की बात कह कर आरोप लगाते हुए संगीन धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली और गिरफ्तारी के लिए जुट गई है।

वहीं मोनू चतुर्वेदी उर्फ़ चक्रेश चतुर्वेदी का आरोप हैं कि पुलिस ने बिना कोई जांच किए उसके ऊपर व उसके मासूम नाबालिग बच्चों के ऊपर बिना कोई जांच किए मारपीट की संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर दिया।

मजे की बात ये है कि पुलिस ने शिकायती पत्र तो ले लिया, लेकिन घटना स्थल पर जाकर जांच करना जरूरी नहीं समझा और बिना जांच किए ही पति- पत्नी और दो मासूमों पर मुकदमा दर्ज कर दिया।

अब पुलिस की इस कार्रवाई से साफ जाहिर होता हुआ दिख रहा है कि शिकायतकर्ता और पुलिस की सांठगांठ से पूरी कार्रवाई की गई होगी। इस संबंध में पीड़ितों ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन देकर न्याय की गुहार की है।

ये भी पढ़े: बहादुरी के लिए इन महाशय को मिला गोल्ड मेडल

ये भी पढ़े: जलवायु परिवर्तन : आंदोलन को धार देने के लिए सड़क पर उतरी ग्रेटा

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com