Tuesday - 30 November 2021 - 9:07 PM

ताइवान पर चीन ने हमला किया तो क्या करेगा अमेरिका?

जुबिली न्यूज डेस्क

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन जब ये पूछा गया कि यदि चीन ताइवान पर हमला करता है तो अमेरिका क्या कदम उठायेगा। इस सवाल पर बाइडेन ने कहा कि अगर चीन ने ताइवान पर हमला किया तो अमेरिका उसकी रक्षा करेगा।

बाइडेन का यह बयान चीन-ताइवान संबंधों पर अरसे से चली आ रही अमेरिकी नीति से विपरीत है।

अमेरिकी में एक इवेंट के दौरान जब जो बाइडन से ये पूछा गया कि क्या वे ताइवान पर चीनी हमले की स्थिति में, ताइवान की रक्षा करेंगे, तो उन्होंने कहा, “बिल्कुल, हम ये करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

लेकिन बाद में व्हाइट हाउस के एक प्रवक्ता ने कुछ अमेरिकी मीडिया आउटलेट्स को बताया कि राष्टï्रपति की टिप्पणी नीति में बदलाव का संकेत नहीं है।

उधर, ताइवान ने जो बाइडन के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इससे उनके चीन के साथ रिश्तों पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

जो बाइडन ने और क्या कहा?

राष्ट्रपति बाइडन ने कहा कि उन्हें चीन के साथ संघर्ष की चिंता नहीं है और लोगों को ये भी सोचने की जरूरत नहीं कि चीन अधिक ताकतवर होता जा रहा है।

राष्ट्रपति ने कहा,”चीन, रूस और बाकी दुनिया जानती है कि हमारे पास दुनिया के इतिहास की सबसे ताकतवर सेना है।”

जब भी ताइवान की रक्षा के पेचीदा मुद्दे की बात आती है तो अमेरिका ने अरसे से “रणनीतिक अस्पष्टता” की स्थिति रखी है।

इसका मतलब यह है कि अमेरिका जानबूझकर इस विषय पर अस्पष्ट रहा है कि अगर चीन ताइवान पर हमला करता है तो वह क्या करेगा।

यह भी पढ़ें : प्रियंका का एक और दांव, लड़कियों को स्कूटी और स्मार्टफोन…

यह भी पढ़ें : बिहार में चुनावी प्रचार को धार देने के लिए एक साथ उतरेंगे कन्हैया-जिग्नेश-हार्दिक

यह भी पढ़ें : ‘वैक्सीन गान’ लांच कर मोदी सरकार ने थपथपाई अपनी पीठ तो उठे सवाल

ताइवान राष्ट्रपति साई इंग वेन.

चीन और ताइवान

दरअसन चीन ताइवान को अपने ही एक प्रांत के रूप में देखता है। एक ऐसा प्रांत जिसे वो जरूरत पडऩे पर, बलपूर्वक चीन में मिला सकता है।

लेकिन इसके विपरीत ताइवान एक आजाद देश होने का दावा करता है।

यह भी पढ़ें :  चीन : कोरोना रिटर्न्स से दहशत, घरों में कैद हुए लोग 

यह भी पढ़ें : मंत्री नवाब मलिक के वसूली वाले आरोपों पर समीर वानखेड़े ने क्या कहा?

अमेरिका के ताइवान के साथ कोई आधिकारिक राजनयिक संबंध नहीं है लेकिन वो ताइवान को एक समझौते के तहत अपने हथियार बेचता है।

ताइवान के राष्ट्रपति कार्यालय ने जो बाइडन के बयान पर कहा, “ताइवान खुद की रक्षा करने के लिए दृढ़ संकल्प है।”

ताइवान के राष्ट्रपति के प्रवक्ता ने यह भी कहा कि वो अमेरिका के ‘रॉक-सॉलिड’ समर्थन स्वीकार करते हैं।

वर्तमान में ताइवान और चीन के बीच तनाव से भरे हैं। हाल की हफ्तों में चीन ने ताइवान के हवाई क्षेत्र का उल्लघंन करते हुए दर्जनों फाइटर जेट उड़ाए हैं।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com