अखिलेश की जेब से निकली उस लाल पोटली में क्या था !

जुबिली न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. दिल्ली में काफी देर तक हेलीकाप्टर रोके जाने के बाद मुज़फ्फरनगर पहुंचे समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राष्ट्रीय लोकदल प्रमुख जयंत चौधरी के साथ प्रेस कांफ्रेंस करते हुए बीजेपी के सफाए का एलान करते हुए कहा कि भाजपा का हर वादा जुमला निकला, उसे चुनाव के समय अपना संकल्प पत्र पढ़ना चाहिए ताकि उसे भी तो पता चले कि जनता से क्या-क्या वादे किये थे. उन्होंने कहा कि झूठे वादे करने वाली बीजेपी ने झूठे विज्ञापन भी दिए. सपा सुप्रीमो ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान जेब से एक लाल पोटली निकाली तो हर किसी की जिज्ञासा बढ़ गई कि आखिर उसमें है क्या? अखिलेश ने खुद ही उसका खुलासा भी कर दिया.

अखिलेश यादव ने कहा कि जयंत चौधरी के साथ मिलकर चौधरी चरण सिंह की विरासत को आगे बढ़ाएंगे और किसानों को सम्पन्न बनाने का काम करेंगे. अखिलेश यादव ने कहा कि किसानों की आमदनी दुगनी करने, समय पर फसल खरीदने और समय पर फसल का भुगतान करने का वादा करने वाली भारतीय जनता पार्टी ने किसानों से मशविरा किये बगैर ही तीन कृषि क़ानून बनाकर किसानों पर थोंप दिए लेकिन किसानों को इस बात के लिए बधाई दी जानी चाहिए की किसानों ने एकजुट होकर सरकार के खिलाफ ऐसा मोर्चा खोला कि उसे कृषि क़ानून वापस लेने को मजबूर होना पड़ा. अखिलेश यादव ने किसानों को भरोसा दिलाया कि कोई भी काला क़ानून उत्तर प्रदेश में लागू नहीं होने दिया जायेगा.

अखिलेश यादव ने मुज़फ्फरनगर में अपना वादा फिर से दोहराया कि समाजवादी सरकार 300 यूनिट बिजली फ्री देगी. किसानों को सिंचाई के लिए मुफ्त बिजली मिलेगी. गन्ना किसानों को अपने भुगतान के लिए 15 दिन से ज्यादा इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा. किसानों के लिए एमएसपी पर खरीद के इंतजाम किये जायेंगे. अखिलेश यादव ने कहा कि पहले भी लैपटॉप बांटा था, फिर बांटेंगे. समाजवादी पेंशन पहले भी दी थी फिर देंगे.

अखिलेश यादव ने प्रेस कांफ्रेंस में जेब से लाल पोटली निकालकर दिखाते हुए कहा कि इसमें अन्न है. हम भी किसान के बेटे हैं और जयंत भी. दोनों मिलकर किसानों के हक़ की लड़ाई लड़ेंगे, और किसानों को उनके अधिकार दिलाएंगे.

जयंत चौधरी ने बताया कि उनके पास शिकायत आई है कि उत्तर प्रदेश में कई अधिकारी लोगों के मतदाता पहचान पत्र और आधार कार्ड लिए ले रहे हैं ताकि वह वोट न डाल पाएं और जिस तरह से पंचायत चुनाव में अधिकारियों की मर्जी से वोट डलवाए गए थे वैसे ही विधानसभा चुनाव में भी किया जाए. उन्होंने कहा कि उनकी ऐसे अधिकारियों पर नज़र है. इसकी लिखित शिकायत चुनाव आयोग से की जायेगी.

यह भी पढ़ें : पंजाब नेशनल बैंक ने कमाया 123 फीसदी का लाभ

यह भी पढ़ें : महाराष्ट्र के पूर्व सीएम ने मोदी सरकार पर लगाया देश की सुरक्षा से खिलवाड़ का आरोप

यह भी पढ़ें : अखिलेश के हेलीकाप्टर को मिली उड़ान की इजाज़त

यह भी पढ़ें : पंजाब में चन्नी के चेहरे पर ही चुनाव लड़ेगी कांग्रेस

यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : पॉलिटीशियन और लीडर का फर्क जानिये तब दीजिये वोट

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com