Saturday - 23 October 2021 - 1:08 PM

रामविलास पासवान की पहली बरसी पर पीएम मोदी ने क्या कहा?

जुबिली न्यूज डेस्क

लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक व पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय राम विलास पासवान को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके बरसी पर संदेश लिख कर याद किया। रामविलास पासवान के बेटे और लोजपा नेता चिराग पासवान ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। इसके साथ ही उन्होंने पीएम का आभार भी प्रकट किया।

पीएम मोदी ने शनिवार देर रात चिराग पासवान से फोन पर बात की और उसके बाद संदेश भेजा। चिराग पासवान ने पटना में अपने आवास पर पिता रामविलास पासवान की बरसी का आज कार्यक्रम का आयोजन किया है। इस मौके पर कई बड़े नेता मौजूद होंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने रामविलास पासवान को महान सपूत, बिहार का गौरव व सामाजिक न्याय का मसीहा कहा।

चिराग पासवान ने प्रधानमंत्री के पत्र को फेसबुक पर शेयर करते हुए लिखा, ‘पिता जी के बरखी के दिन आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का संदेश प्राप्त हुआ है। सर आपने पिता जी के पूरे जीवन के सारांश को अपने शब्दों में पिरोकर उनके द्वारा समाज के लिए किए गए कार्यों का सम्मान किया है व उनके प्रति अपने स्नेह को प्रदर्शित किया है। यह पत्र मेरे और मेरे परिवार को इस दु:ख की घड़ी में शक्ति प्रदान करता है। आप का स्नेह व आशीर्वाद हमेशा बना रहे।’

पीएम ने पत्र में क्या लिखा है?

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने पत्र में लिखा है, ‘देश के महान सपूत, बिहार के गौरव और सामाजिक न्याय की बुलंद आवाज रहे स्वर्गीय श्री राम विलास पासवान जी को मैं अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। यह मेरे लिए बहुत भावुक दिन है। मैं आज उन्हें न केवल अपने आत्मीय मित्र के रूप में याद कर रहा हूं बल्कि भारतीय राजनीति में उनके जाने से जो शून्य उत्पन्न हुआ है, उसे भी अनुभव कर रहा हूं। स्वतंत्र भारत के राजनीतिक इतिहास में पासवान जी का हमेशा अपना एक अलग स्थान रहा। वे एक बहुत ही सामान्य पृष्ठभूमि से उठकर शीर्ष तक पहुंचे।’

पासवान जी के जीवन से सीख सकते हैं युवा राजनेता

प्रधानमंत्री ने लिखा है कि जो युवा राजनीति के जरिए देश सेवा करना चाहते हैं वह रामविलास पासवान जी के जीवन से काफी कुछ सीख सकते हैं।

पीएम ने पत्र में लिखा, ‘NDA सरकार के 6 वर्षों में भी उन्होंने इसी ऊर्जा के साथ स्वयं को जनहित से जुड़े निर्णय के लिए समर्पित रखा। उनके प्रयासों में देश को उपभोक्ता अधिकार और पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम से जुड़े अनेक प्रभावी कदम उठाने में दिशा मिली। आज जो युवा राजनीति को जानना और समझना चाहते हैं या फिर राजनीति के माध्यम से देश की सेवा करना चाहते हैं पासवान जी का जीवन उन्हें काफी कुछ सिखा सकता है।’

यह भी पढ़े : विजय रूपाणी के इस्तीफा देने की क्या है वजह?

यह भी पढ़े :  एक तस्वीर धुंधली ही सही,मगर यह भी है आज के अफगानिस्तान की

यह भी पढ़े :  BJP के लिए चेहरा नहीं सत्ता है महत्वपूर्ण !

सभी से हंसकर मिलते थे रामविलास जी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘सत्ता के शीर्ष पर पहुंच कर भी रामविलास पासवान जी हमेशा अपने कार्यकर्ताओं के लिए सुलभ रहते थे और उनके सुख दुख में भागीदार रहते थे। उन्होंने हमेशा संवाद और सौहार्द में भरोसा किया। यही वजह है कि हर राजनीतिक दल के नेताओं के साथ उनके मधुर संबंध रहे। हमेशा चेहरे पर मुस्कान लिए मिलने वाले रामविलास जी सभी के थे, जन-जन के थे। मैं रामविलास जी के परिवार के सभी सदस्यों के लिए उनके सभी समर्थकों के लिए बेहतर स्वास्थ्य और सुख समृद्धि की कामना करता हूं।’

यह भी पढ़े :  व्यंग्य / बड़े अदब से : चिन्दी चिन्दी हिन्दी

यह भी पढ़े :  मुंबई में एक और ‘निर्भया’ ने तोड़ा दम 

यह भी पढ़े :   पानी-पानी हुई दिल्ली 

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com