Thursday - 22 October 2020 - 10:39 PM

चुनावी माहौल में ट्रंप पर लगा यौन शोषण का आरोप

जुबिली न्यूज डेस्क

अमेरिका में चुनावी माहौल है। 3 नवंबर को राष्ट्रपति चुनाव होना है। राजनीतिक दल चुनाव जीतने के लिए दिन-रात एक किए हुए हैं। राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रंप भी चुनावी मैदान में हैं और वह चुनाव जीतने के लिए अपना पूरा प्रयास कर रहे हैं।

इस चुनावी माहौल में राष्ट्रपति ट्रंप पर गंभीर आरोप लगा है। पूर्व मॉडल एमी डोरिस ने राष्ट्रपति ट्रंप पर साल 1997 में उन्हें जबरदस्ती चूमने और पकडऩे का आरोप लगाया है। यह आरोप राष्ट्रपति चुनाव के ठीक कुछ हफ्ते पहले सामने आया है।

ये भी पढ़े: अमेरिकी चुनाव : भारतीय ही नहीं पाकिस्तानी महिलाएं भी हैं मैदान में

ये भी पढ़े: अब उत्तराखंड के पिथौरागढ़ को नेपाल ने बताया अपना

पूर्व मॉडल एमी डोरिस ने ब्रिटेन के “द गार्जियन” अखबार को बताया कि ट्रंप ने उनके साथ न्यूयॉर्क में यूएस ओपन के दौरान अपने वीआईपी बॉक्स में यौन शोषण किया था। हालांकि ट्रंप ने अपने वकीलों द्वारा इन आरोपों से इनकार किया है।

डोरिस ने आरोप लगाने के साथ अखबार को कई तस्वीरें भी पेश की जिनमें वे ट्रंप के साथ नजर आ रही हैं। कई और लोगों ने डोरिस के बयान का समर्थन किया है यह बताते हुए कि उन्होंने उस समय इस घटना के बारे में बताया था।

अखबार को दिए इंटरव्यू में डोरिस ने कहा, “उन्होंने अपनी जीभ मेरी गर्दन पर लगानी शुरू कर दी और मैं उन्हें पीछे धकेलती रही। और उसके बाद उन्होंने अपनी पकड़ मजबूत कर ली, उन्होंने हर तरफ से मुझे जकड़ लिया।”

डोरिस ने आगे कहा, “मैं ट्रंप की पकड़ में आ चुकी थी और मैं उससे बाहर नहीं निकल पाई।”

राष्ट्रपति ट्रंप पर एक दर्जन से अधिक यौन दुराचार के आरोप लग चुके हैं, जिनमें प्रमुख रूप से अमेरिकी स्तंभकार ई जीन कैरोल ने 1990 में एक डिपार्टमेंटल स्टोर के ड्रेसिंग रूम में बलात्कार का आरोप लगाया था। हालांकि, ट्रंप ने कैरोल के आरोप को झूठा बताया था।

डोरिस के साथ जब यह कथित घटना हुई थी तब वह 24 साल की थीं और ट्रंप 51 साल के थे। ट्रंप की दूसरी शादी हो चुकी थी।

ये भी पढ़े:  फिर सवालों के घेरे में आई रूस की कोरोना वैक्सीन

ये भी पढ़े: दिल्ली दंगे : जिसने मांगा तीन लाख का मुआवजा उसे मिला 750 रुपए

ये भी पढ़े: डिटेंशन सेंटर मामले में योगी सरकार बैकफुट पर क्‍यों

डोरिस का कहना है कि उन्होंने ट्रंप को रुकने के लिए कहा लेकिन उन्होंने उनकी नहीं सुनी। डोरिस ने कहा, “मुझे वास्तव में ज्यादती का एहसास हुआ।” जब उनसे पूछा गया कि इस घटना के बाद भी वे ट्रंप के आसपास क्यों मौजूद रहीं, तो उन्होंने कहा, “यह तभी होता है जब कुछ दर्दनाक आपके साथ होता है। आप जम जाते हैं। ”

वहीं ट्रंप के वकीलों ने अखबार को कहा है कि डोरिस ने जो घटनाक्रम बताया उस पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। वकील का यह भी कहना है कि अगर ऐसा कुछ हुआ है तो इस घटना के गवाह होने चाहिए. वकीलों का कहना है कि डोरिस का आरोप राजनीति से प्रेरित हो सकता है क्योंकि 3 नवंबर को चुनाव में ट्रंप का मुकाबला जो बाइडेन से है।

डोरिस अब 48 साल की हो गई हैं। अब सब कुछ सामने लाने के सवाल पर वह कहती है कि यह फैसला इसलिए लिया क्योंकि वे अपनी जुड़वां बेटियों के लिए रोल मॉडल बनना चाहती है। उन्होंने एक साल पहले अपनी कहानी अखबार को बताई थी लेकिन उसे छापने से मना किया था। उन्होंने कहा, “उनका इस तरह से बचे रहना मुझे बीमार करता है।”

वहीं गार्जियन अखबार ने कहा है कि उसने जो रिपोर्ट छापी है वह उस पर कायम है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com