Saturday - 19 September 2020 - 9:46 PM

Tourism कंपनियों ने सरकार से की ये मांग

जुबिली न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली। पर्यटन कंपनियों ने कोरोना वायरस महामारी से बुरी तरह प्रभावित इस क्षेत्र को उबारने के लिये सरकार से तत्काल कदम उठाने की मांग की।

पर्यटन, यात्रा और आतिथ्य क्षेत्र के 10 संगठनों के राष्ट्रीय महासंघ ‘फेडरेशन ऑफ एसोसिएशंस इन इंडियन टूरिज्म एंड हॉस्पिटलिटी (फेथ)’ व उसके सदस्य संगठनों के प्रतिनिधियों ने पर्यटन मंत्रालय के साथ एक बैठक में क्षेत्र को उबारने की विविध चरणों की रणनीतियां साझा की।

फेथ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आशीष गुप्ता ने कहा फेथ को उम्मीद है कि भारतीय पर्यटन उद्योग को शीघ्रता से पटरी पर लाने को लेकर पर्यटन क्षेत्र के लिये मांग सृजन और आपूर्ति संरक्षण के उपायों को तत्काल लागू किया जायेगा।

ये भी पढ़े: नीतीश के खिलाफ क्यों है चिराग

ये भी पढ़े: अब इस मुद्दे पर योगी सरकार को घेर रहीं प्रियंका

ये भी पढ़े: सुशांत के परिवार को सबक सिखाने की धमकी कौन दे रहा है ?

ये भी पढ़े: योगी के गढ़ में POLICE को फिर चुनौती : पहले छेड़खानी और फिर…

बयान में कहा गया कि संगठन ने एक दोहरी कार्य बल रणनीति का भी प्रस्ताव किया। इसके तहत पर्यटन क्षेत्र को उबारने के लिये केंद्र सरकार के स्तर पर विभिन्न मंत्रालयों के एक कार्यबल और दूसरे स्तर पर विभिन्न राज्यों के एक कार्यबल का प्रस्ताव किया गया।

फेथ ने अंतरराष्ट्रीय टूर ऑपरेटरों के लिये नवंबर के पहले या चौथे सप्ताह में ‘इंडियन टूरिज्म मार्ट’ आयोजित करने का भी प्रस्ताव रखा, ताकि भारतीय पर्यटन उत्पादों का प्रदर्शन किया जा सके और भरोसा बनाया जा सके।

फेथ ने रिजर्व बैंक के द्वारा समाधान योजना बनाये जाने तक पर्यटन व आतिथ्य सत्कार कंपनियों के लिये कर्ज की किस्तें चुकाने से छूट की अवधि को बढ़ाने का भी प्रस्ताव दिया।

संगठन ने सभी पर्यटन परिवहन व टूर ऑपरेटर परमिट, शराब लाइसेंस तथा अन्य मंजूरियों को स्वत: विस्तार दिये जाने की भी मांग की। बयान में कहा गया कि दिल्ली में होटलों को पुन: खोलने की मंजूरी दिये जाने की भी मांग की गयी।

ये भी पढ़े: आखिर कांग्रेस के लिए पायलट इतने महत्वपूर्ण क्यों हैं?

ये भी पढ़े: जानलेवा भी हो सकता है हैंड सैनिटाइजर, अमेरिका में 4 लोगों की मौत

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com