Thursday - 2 December 2021 - 11:54 AM

केंद्रीय मंत्री ने कहा-पेट्रोल-डीजल के कर के पैसे से लोगों को दी जा रही है फ्री वैक्सीन

जुबिली न्यूज डेस्क

पेट्रोलियम उत्पादों के लगातार बढ़ते दाम से देश की जनता परेशान है। आए दिन पेट्रोल-डीजल का दाम बढ़ रहा है, जिसकी वजह से लोगों का बजट गड़बड़ा गया है।

सरकार से लगातार इस पर नियंत्रण की मांग की जा रही है, लेकिन सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है। वहीं बीते शनिवार यानी 9 अक्टूबर को पेट्रोलियम उत्पादों की बढ़ती कीमतों पर केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने एक ऐसा बयान दिया है जो सुर्खियों में है।

केंन्द्रीय मंत्री रामेश्वर तेली ने कहा कि, पेट्रोलियम उत्पादों पर जो कर लगाए जा रहे हैं, उससे लोगों को सरकार द्वारा मुफ्त वैक्सीन मुहैया करवाई जा रही है।

तेली ने कहा कि पेट्रोल की कीमत बहुत अधिक नहीं है, लेकिन इस पर लगने वाले टैक्स से इसके दाम अधिक हो जाते हैं। यह भी संसाधन जुटाने का एक जरिया है। देश में सबको मुफ्त कोरोना वैक्सीन दी जा रही है, उसका पैसा कहां से आएगा, उसी की भरपाई के लिए तेल के दाम बढ़ाए गए हैं।

वहीं केंद्रीय मंत्री ने तेल की कीमतों की तुलना पानी की बोतल से करते हुए कहा कि, मिनरल वाटर की कीमत तेल की कीमतों से कहीं अधिक है।

यह भी पढ़ें :  लखीमपुर हिंसा : किसानों के ‘अंतिम अरदास’ में आज शामिल होंगी प्रियंका गांधी

यह भी पढ़ें : वरूण गांधी के समर्थन में आई शिवसेना, कहा-उबल गया इंदिरा के पोते…

यह भी पढ़ें : तेजप्रताप का पलटवार ! कहा-RJD से बाहर निकालने की हिम्मत किसी में नहीं

उन्होंने कहा कि पेट्रोल की कीमत 40 रुपये है, ऐसे में इस पर राज्य सरकारें अपना टैक्स लगाती हैं। पेट्रोलियम मंत्रालय 30 रुपये लगाता है, जिससे इसकी कीमत 100 रुपये के पास पहुंच जाती है, लेकिन अगर आप हिमालय का पानी पीते हैं तो उसकी एक बोतल की कीमत 100 रुपये है।

मालूम हो सोमवार को केरल और कर्नाटक में डीजल की कीमत प्रति लीटर 100 रुपये से अधिक हो गई। लगातार सातवें दिन तेल की कीमतों में वृद्धि की गयी।

अधिसूचना के अनुसार, सोमवार को पेट्रोल के दाम 30 पैसे प्रति लीटर और डीजल का भाव 35 पैसे प्रति लीटर और बढ़ गया। वहीं  दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 104.44 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 110.41 रुपये प्रति लीटर के उच्चतम स्तर पर पहुंच गयी है।

यह भी पढ़ें : घातक होता जा रहा है दो सम्प्रदाय में नागरिक और पांच जातियों में तंत्र का बटवारा

यह भी पढ़ें : लोहिया ने मंत्री पद स्वीकार कर लिया होता तो कौन बताता कि विपक्ष भी कुछ होता है

वैस ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब तेल की कीमतों पर किसी नेता ने अजीबोगरीब बयान दिया है। इससे पहले बीजेपी नेता और बिहार सरकार के पर्यटन मंत्री नारायण प्रसाद ने कहा था कि “देश की आम जनता गाड़ी से नहीं बल्कि बस से चलती है। आम जनता महंगाई से परेशान नहीं है। देश में बढ़ती महंगाई से नेताओं को परेशानी है। आम जनता को तो बढ़ती महंगाई की आदत हो जाती है।”

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com