Thursday - 2 December 2021 - 12:26 PM

गोवा के पूर्व सीएम की चिट्ठी से कांग्रेस में मचा बवाल

जुबिली न्यूज डेस्क

कांग्रेस में मचा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। कभी केंद्र में तो कभी राज्यों में कांग्रेस में रार मची हुई है। कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व एक ओर सब ठीक करने का प्रयास करता है तो वहीं दूसरी ओर से कलह की खबरें आने लगती हैं।

पंजाब, राजस्थान में मची कलह अभी खत्म नहीं हुई कि गोवा कांग्रेस में उथल-पुथल मच गई । गोवा के पूर्व सीएम और नवेलिम से एमएलए लुइजिन्हो फेलेरो ने सोमवार को पहले विधानसभा सदस्यता और फिर कांग्रेस की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया।

इस्तीफा देने के बाद ही पूर्व सीएम फेलेरो ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक चिट्ठी लिखी है जिस पर बवाल खड़ा हो गया है।

दरअसल, फेलेरो ने इस चिट्ठी में बिना नाम लिए पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह पर आरोप लगाया कि उनकी वजह से 2017 में गोवा में कांग्रेस की सरकार नहीं बन पाई।

पूर्व सीएम ने आरोप लगाया कि साल 2017 विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस के पास बहुमत के लिए जरूरी 21 विधायकों का समर्थन था लेकिन कांग्रेस प्रभारी द्वारा उन्हें राज्यपाल के पास जाने से रोक दिया गया।

मालूम हो कि साल 2017 में दिग्विजय सिंह गोवा कांग्रेस के प्रभारी थे। पूर्व सीएम फेलेरो ने कहा कि उस समय उनकी अगुवाई में कांग्रेस के 17 विधायक चुनाव जीते थे। इसके अलावा एक निर्दलीय विधायक भी कांग्रेस के समर्थन में था।

यह भी पढ़ें : …तो क्या BJP को बंगाल में फिर लगने वाला है झटका

यह भी पढ़ें :  जब CBI ने चेक किया बाघम्बरी मठ का CCTV तो…

यह भी पढ़ें : अशोक गहलोत के भाई को ED ने इस मामले में पूछताछ के लिए बुलाया 

उन्होंने कहा कि कुल चार विधायकों के समर्थन से कांग्रेस के पास 21 विधायक थे, यानी बहुमत का आंकड़ा था। फेलेरो ने आरोप लगाया कि दिग्विजय सिंह ने उन्हें राज्यपाल के पास जाने से रोक दिया और 24 विधायकों के समर्थन तक इंतजार करने को कहा। इसके बाद भाजपा ने बहुमत का आंकड़ा जुटा कर सरकार बना ली।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी में पूर्व सीएम ने कहा कि इस घटनाक्रम से उन्हें ठगा सा महसूस हुआ और झटका लगा। उन्होंने कहा कि बीते चार सालों में गोवा के अंदर कांग्रेस 18 विधायकों से सिमट कर महज 5 पर रह गई है। 13 विधायकों के कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया गया।

यह भी पढ़ें :  स्विट्जरलैंड में समलैंगिक विवाह को मिली मंजूरी

यह भी पढ़ें :  विपत्ति की घड़ी में होगी क्वार्ड की अग्नि परीक्षा

गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री ने फेलेरो ने कहा कि गोवा में वो कांग्रेस नहीं बची जिसके लिए उन्होंने लड़ाई लड़ी। इसलिए वो कांग्रेस से इस्तीफा दे रहे हैं।

मालूम हो कि कांग्रेस छोडऩे के बाद फेलेरो के टीएमसी में शामिल होने की प्रबल संभावना है। सोमवार को विधायकी से इस्तीफा देने के पहले ही फेलेरो ने ममता बनर्जी को स्ट्रीट फाइटर बताया और यह भी कहा कि भाजपा को ममता बनर्जी ही चुनौती दे सकती हैं। अगले साल होने वाले गोवा विधानसभा चुनावों में टीएमसी ने भी मैदान में उतरने का ऐलान किया है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com