Saturday - 19 September 2020 - 9:23 PM

सुशांत आत्महत्या केस : कौन अटका रहा है रोड़े

जुबिली न्यूज़ डेस्क

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत की मौत की जांच में दो राज्यों की पुलिस आमने सामने आ गयी है। इस मामले में लगातार नए मोड़ सामने आ रहे हैं। साथ ही राजनीतिक बयानबाजी तेज़ हो गई है। इस बीच बिहार पुलिस की ओर से इस मामले की जांच करने मुंबई पहुंचे पटना के एसपी को बीएमसी ने क्वारनटीन कर दिया। इसके बाद से कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं।

दरअसल, बीते दिन यानी रविवार को पटना के एसपी सिटी विनय तिवारी सुशांत मामलें की जांच की कमान संभालने मुंबई पहुंचे थे। लेकिन आरोप है कि बीएमसी ने उनके साथ बुरा बर्ताव किया और इसके बाद उन्हें क्वारनटीन में डाल दिया। इस मामलें में बिहार के सीएम नितीश कुमार ने कहा है कि जो हुआ है वो ठीक नहीं हुआ है। महाराष्ट्र सरकार से इस मामलें में बात की जाएगी। 

इसके बाद बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष ने आरोप लगाया है कि सुंशात केस की जांच करने मुंबई पहुंचे पटना के एसपी विनय तिवारी को पहले तो आईपीएस हॉस्टल में रुकने की जगह नहीं दी गई। इसके बाद जब उन्होंने अपने रहने की व्यवस्था की तो उनसे उनका पता पूछा गया। जिसके बाद बीएमसी ने विनय तिवारी को कोरोना के डर से क्वारंटीन कर दिया।

उन्होंने कहा कि एसपी विनय तिवारी को बीएमसी ने जबरन क्वारंटीन किया। कानून के साथ वर्दी पर प्रतिबंध उचित नहीं है। देश की वर्दी एक है जो कानून की रक्षा जनता की सुरक्षा और न्याय का प्रतीक है। बिहार पुलिस ने कहा कि हमारे अधिकारी के हाथ पर क्वारंटीन की मुहर लगाई गई।

क्या बोली बीएमसी

वहीं इस मामलें में बीएमसी की ओर से कहा गया है कि उन्होंने सिर्फ केंद्र सरकार की गाइडलाइन्स का पालन किया है। क्योंकि उन्हें सात दिन से अधिक वक्त तक मुंबई में रुकना है, इसलिए ऐसा किया गया है।

क्या बोले बिहार सरकार के ये मंत्री

बिहार सरकार में मंत्री नीरज कुमार का कहना है कि महाराष्ट्र सरकार ने बिहार पुलिस के अफसर को क्वारनटीन करके अपराध किया है। मुंबई पुलिस लगातार जांच में रोड़े अटका रही है।

ये भी पढ़े : कोरोना मरीजों की संख्या 18 लाख के पार, पिछले 24 घंटे में 771 की मौत

ये भी पढ़े : अयोध्या की सीमाएं सील, केवल एंबुलेन्स को छूट

गौरतलब है कि ऐसा पहली बार नहीं जब जब बिहार पुलिस की ओर से मुंबई पुलिस पर सवाल खड़े किए गए हैं। इससे पहले भी सुशांत सिंह राजपूत की मैनेजर दिशा सालियान की मौत के मामले में भी मुंबई पुलिस पर सहयोग ना करने का आरोप लग चुका है।

बिहार पुलिस का दावा है कि उन्हें कहा गया है कि दिशा के मामलें से संबंधित फाइल ही डिलीट हो गई है। लेकिन मुंबई पुलिस ने इस दावे को सिरे से नकार दिया है।

लगातार उठ रही सीबीआई जांच की मांग

बता दें कि 34 वर्षीय सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को अपने बांद्रा स्थित आवास पर मृत मिले थे। उनके मौत के मामले की जांच मुंबई पुलिस के साथ ही बिहार पुलिस भी कर रही है। बीजेपी सहित कई पार्टी इस मामलें में सीबीआई जाँच की मांग कर रही है।

सीबीआई जांच की मांग पर निंदा करते हुए महाराष्ट्र के गृहमंत्री देशमुख ने ट्वीट किया था, ‘महाराष्ट्र पुलिस पेशेवर तरीके से मामले की जांच कर रही है और सच्चाई सामने लाने में सक्षम है और मामले में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com