Saturday - 1 October 2022 - 11:34 AM

…तो इसलिए कांग्रेस नेत्री ने खुद पर चलवाई थी गोली

जुबिली न्यूज डेस्क

प्रधानमंत्री मोदी को काला झंडा दिखाने का प्रयास करने वाली कांग्रेस नेत्री रीता यादव को पुलिस ने खुद पर हमला करवाने के आरोप में जेल भेज दिया।

हाल ही में हुए एक गोलीकांड की तफ्तीश के आधार पर बुधवार को पुलिस ने कई चौकाने वाले तथ्य उजागर करते हुए बताया कि रीता यादव ने विधानसभा का टिकट पाने के लिए खुद पर गोली चलवाई थी।

पुलिस ने रीता यादव समेत तीन को जेल भेज दिया है। रीता के साथ उनका ड्राइवर मुस्तकीम और धर्मेंद यादव को भी पुलिस ने इस साजिश में शामिल होने के आधार पर जेल भेजा है।

पुलिस के अनुसार बीते 3 जनवरी की शाम को लंभुआ कस्बे के लखनऊ-वाराणसी बाईपास ओवर ब्रिज पर अज्ञात बाइक सवार व्यक्तियों द्वारा सुलतानपुर के सुनावा लालू का पुरवा निवासी, रीता यादव (35) को गोली मारने की घटना हुई थी।

इस हमले में रीता यादव को बाएं पैर में गोली लगी थी, जिसमें पुलिस ने आईपीसी की धारा 307 के तहत मामला दर्ज किया था।

पुलिस ने प्राथमिक जांच और स्थानीय लोगों से पूछताछ के आधार पर मामले के तथ्यों को उजागर करते हुए रीता यादव सहित तीन को गिरफ्तार कर लिया।

मालूम हो कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लोकार्पण कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी को रीता यादव ने काला झंडा दिखाने का प्रयास किया था। उस समय वह समाजवादी पार्टी की नेता थीं। इसके बाद कांग्रेस की सदस्यता ले ली।

यह भी पढ़ें : … तो क्या अयोध्या से चुनाव लड़ने जा रहे हैं सीएम योगी

यह भी पढ़ें : कल्याण सिंह की बहू भी लड़ना चाहती हैं विधानसभा चुनाव

यह भी पढ़ें :क्या कांशीराम का मूवमेंट बसपा से सपा की तरफ ट्रांसफर हो रहा है ! 

कांग्रेस ने बताया था गुंडाराज

कांग्रेस पार्टी ने रीता यादव को गोली लगने के बाद इस मुद्दे को जोर शोर से उठाया था। अस्पताल में पड़ीं रीता यादव की तस्वीर साझा करते हुए पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर घटना की आलोचना की गई। प्रदेश में गुंडाराज बताया गया था।

पूर्व ग्राम प्रधान के साथ मिलकर रची साजिश

पुलिस के अनुसार रीता यादव ने अपने जानने वाले पूर्व ग्राम प्रधान माधव यादव से मिलकर यह साजिश रची थी ताकि आगामी विधानसभा चुनाव में उन्हें कांग्रेस से टिकट मिल जाए।

यह भी पढ़ें :  SC का आदेश, PM सुरक्षा में चूक की जांच करेंगी पूर्व जज इंदु मल्होत्रा

यह भी पढ़ें : पिछले पांच साल में यूपी, पंजाब में क्या रहा रोजगार का हाल?

यह भी पढ़ें : पंजाब : केजरीवाल के इस दांव से कांग्रेस की बढ़ेगी मुश्किलें 

रीता ने अपने ड्राइवर मो. मुस्तकीम, सूरज यादव और माधव यादव और एक अज्ञात व्यक्ति से मिलकर अपने ऊपर गोली चलवाई।

पुलिस ने यह भी बताया की यह लोग रीता यादव के साथ गाड़ी में उनके साथ ही आए थे और घटना को अंजाम देकर फरार हो गए।

पुलिस ने साजिश रचने के मामले में रीता यादव समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पकड़े गए आरोपियों के पास से हथियार भी बरामद हुआ है।

रीता यादव पहले सपा में थीं. लेकिन सपा में सम्मान नहीं मिलने की वजह से घटना के बाद में वे अमेठी में प्रियंका गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हो गईं थीं।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com