Friday - 22 January 2021 - 9:55 PM

राज्यसभा चुनाव: मायावती को लगा झटका, वोटिंग से पहले बसपा में बगावत

जुबिली न्‍यूज डेस्‍क 

उत्तर प्रदेश में नवंबर के शुरुआती दिनों में होने वाले राज्यसभा चुनाव से पहले बहुजन समाज पार्टी को बड़ा झटका लगा है। बुधवार को बसपा की ओर से प्रत्याशी रामजी गौतम के दस प्रस्तावकों में से पांच ने अपना प्रस्ताव वापस ले लिया है। ऐसे में अब रामजी गौतम की उम्मीदवारी पर संकट खड़ा हो गया है। इसके अलावा दो और विधायकों को लेकर चर्चा है कि वे मायावती के खिलाफ जा सकते हैं।

इन पांच प्रस्तावकों ने बुधवार सुबह ही समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव से मुलाकात की थी, जिसके बाद अब बसपा में बगावत के सुर दिखाई देने लगे हैं। बसपा के पांच विधायक बुधवार सुबह अचानक विधानसभा में अपना प्रस्ताव वापस लेने पहुंचे, जिससे यूपी की राजनीति में सरगर्मी बढ़ गई।

यह भी पढ़ें : ‘बिहार में मुख्यमंत्री चुना जाना है प्रधानमंत्री नहीं’

यह भी पढ़ें :  क्या इशारा कर रही है बिहार मे तेजस्वी की रैलियां !

बहुजन समाज पार्टी के असलम चौधरी, असलम राईनी, मुज्तबा सिद्दिकी, हाकम लाल बिंद, गोविंद जाटव ने अपना प्रस्ताव वापस लिया। बता दें कि कल ही असलम चौधरी की पत्नी ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ली थी।

यूपी में दस राज्यसभा सीटों पर चुनाव होना है, जिसके लिए कुल 10 प्रत्याशी मैदान में हैं। बीजेपी की ओर से आठ, समाजवादी पार्टी के एक, बहुजन समाज पार्टी के एक और एक निर्दलीय उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। यूपी में नौ नवंबर को राज्यसभा चुनाव के लिए मतदान होगा, 11 नवंबर तक नतीजे आ सकते हैं. जबकि ये सीटें 25 नवंबर तक खाली होनी हैं।

यह भी पढ़ें : मायावती को क्‍यों फायदा दिला रही है बीजेपी

यह भी पढ़ें : अब छोटे कारोबारी SMS के जरिए भर सकेंगे GST रिटर्न

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा में अभी 395 (कुल सदस्य संख्या-403) MLA हैं जबकि 8 सीटें खाली हैं। बीजेपी के पास फिलहाल 306 विधायक हैं। वहीं, सपा के पास 48, बसपा के पास 18, कांग्रेस के 7, अपना दल के पास 9 और ओम प्रकाश राजभर की पार्टी के चार विधायक हैं.  जबकि 4 निर्दलीय और एक निषाद पार्टी से विधायक हैं।

मौजूदा गणित के अनुसार, बीजेपी अपनी आठ सीटों पर आसानी से जीत दर्ज कर सकती है जबकि समाजवादी पार्टी के पास भी जीतने का मौका है। लेकिन बसपा के प्रत्याशी और निर्दलीय उम्मीदवार के बीच मुकाबला हो सकता है और अब बसपा प्रत्याशी के प्रस्तावकों ने जो झटका दिया है, उससे मुश्किल अधिक बढ़ गई है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com