Monday - 27 January 2020 - 3:40 AM

राष्ट्रपति से मिला बहादुरी का सम्मान निकले आतंकियों के कद्रदान

जुबिली न्यूज़ डेस्क

हमारा देश भी कमाल का देश है, कभी स्वर्गीय वशिष्ठ नारायण सिंह जैसे महान शख्सियत को एम्बुलेंस भी नसीब नहीं होती तो कभी एक ऐसे शख्स को राष्ट्रपति द्वारा बहादुरी के लिए सम्मानित कर दिया जाता है जिसका नाम एक आतंकी हमले में उछला हो और फिर उसी बहादुर को श्रीनगर जैसे संवेदनशील अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे पर तैनाती भी मिल जाती है। इतना ही नहीं ये बहादुर अफसर अब एकबार आतंकियों को दिल्ली पहुंचाने का दुस्साहास भी प्रदर्शित करते हैं। हालाँकि इस बार वो पकड़े जाते हैं और खबर भी सुर्ख़ियों में आ जाती है।

दरअसल हम बात कर रहे हैं जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में पकड़े गए राष्ट्रपति मेडल से सम्मानित एक पुलिस अधिकारी की जिन्हें दो आतंकियों के साथ गिरफ्तार किया गया है।

यह भी पढ़ें : तो दीपिका का PR बैक फायर कर गया !

बता दें कि, राष्ट्रपति मेडल से सम्मानित एक पुलिस अधिकारी दविंदर सिंह को दो आतंकियों के साथ श्रीनगर-जम्मू हाइवे पर काजीगुंड के मीर बाजार के पास से गिरफ्तार किया गया। जिस कार में तीनों जा रहे थे वो श्रीनगर में तैनात पुलिस उप अधीक्षक (DSP) देविंदर की बताई जा रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आतंकी दिल्ली की तरफ जा रहे थे। दविंदर सिंह शनिवार को ड्यूटी से गैरहाजिर था और उसने रविवार से चार दिन की छुट्टी के लिए आवेदन दे रखा था।

यह भी पढ़ें : ‘राइट टू हेल्थ’ पर मध्यप्रदेश का क्या होगा स्टैण्ड

पुलिस सूत्रों ने बताया कि, पकड़े गए आतंकी नवीद बाबू पर अक्‍टूबर और नवंबर महीने में दक्षिण कश्‍मीर में 11 गैर कश्‍मीरियों की हत्‍या में शामिल होने का आरोप है।

पुलिस नवीद की गतिविधियों पर नजर रखे हुए थी और जब उसने अपने भाई को फोन किया तो उसके ठिकाने का पता चला। पुलिस ने वनपोह में एक गाड़ी को रोका जिसमें हिजबुल आतंकी जो कि एक पूर्व विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) भी रहा है, उसके साथी आसिफ और डीसीपी दविंदर सिंह यात्रा कर रहे थे।

इसके बाद संवेदनशील श्रीनगर अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे पर तैनात डीएसपी दविंदर सिंह को कुलगाम जिले के वनपोह में हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी नवीद बाबू के साथ पकड़ा गया।

यह भी पढ़ें : मुस्ल‍िम देशों में एकमात्र बांग्लादेश में हैं रामकृष्ण मिशन के मठ

यह भी पढ़ें : पीके ने राहुल-प्रियंका को क्यों दी बधाई

छापेमारी में हथियार और गोलाबारूद बरामद

दविंदर सिंह और नवीद बाबू की गिरफ्तारी और पूछताछ के बाद पुलिस ने श्रीनगर और दक्षिण कश्‍मीर में कई जगहों पर छापे मारे और भारी मात्रा में हथियार और गोलाबारूद बरामद किया जिसे डीसीपी व अन्‍य आतंकियों ने छुपा रखा था।

2001 संसद हमले में उछला था नाम

सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि दविंदर सिंह को पिछले वर्ष 15 अगस्‍त को राष्‍ट्रपति पुलिस मेडल से सम्‍मानित किया गया था। जबकि दविंदर सिंह का नाम 2001 संसद हमले में भी उछल चुका है। संसद पर हमले के आरोपी अफजल गुरु द्वारा 2013 में लिखी गई एक चिट्ठी में दावा किया गया था कि, अधिकारी ने उसे संसद हमले के एक आरोपी को साथ दिल्‍ली ले जाने और उसके रहने की व्‍यवस्‍था करने को कहा था।

Loading...
English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com