Friday - 19 August 2022 - 12:47 PM

RSS प्रमुख के बयान पर असदुद्दीन ओवैसी ने कहा-संघ की पुरानी रणनीति है कि…

जुबिली न्यूज डेस्क

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत के ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर दिए गए बयान पर हलचल मची हुई है। जहां कुछ लोग उनके बयान की प्रशंसा कर रहे हैं तो वहीं कुछ आलोचना।

इसी कड़ी में AIMIM के अध्यक्ष व सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने भी संघ प्रमुख भागवत पर निशाना साधा है।

ओवैसी ने कहा, “विश्व हिंदू परिषद के गठन से पहले तो संघ के एजेंडे में अयोध्या था ही नहीं। ज्ञानवापी मस्जिद पर मोहन भागवत के बयान को नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। बाबरी मस्जिद के लिए आंदोलन को याद करें जो ऐतिहासिक कारणों से आवश्यक था। उस समय संघ ने उच्चतम न्यायालय के आदेशों का सम्मान नहीं किया और इसमें भाग लिया। फैसले से पहले ही मस्जिद को तोड़ दिया। तो इसका यह मतलब है कि क्या वे ज्ञानवापी मस्जिद के साथ भी कुछ ऐसा ही करेंगे?”

सांसद ओवैसी ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और संघ प्रमुख भागवत की ओर से देश में शांति और सद्भाव सुनिश्चित करने के आश्वासन पर भी सवाल उठाया।

यह भी पढ़ें :  सुप्रीम कोर्ट : आर्य समाज को मैरिज सर्टिफिकेट जारी करने का हक़ नहीं

यह भी पढ़ें :  उत्तराखंड में भी टैक्स फ्री हुई सम्राट पृथ्वीराज फिल्म

यह भी पढ़ें :  प्रकाश राज का तंज, कहा-अब देश की सरकार को करना पड़ रहा है बॉलीवुड फिल्मों का प्रमोशन

उन्होंने कहा, ” इन मुद्दों को लेकर देश को आश्वासन देने के लिए मोहन भगावत या नड्डा कौन हैं? उनके पास कोई संवैधानिक पद नहीं है। पीएमओ को इस मुद्दे पर और पूजा स्थल अधिनियम, 1991 के बारे में साफ संदेश देना चाहिए। उन्होंने संविधान की शपथ ली है। अगर वह इसके साथ खड़े होते हैं, तो इस हिंदुत्व को रोकना होगा।”

यह भी पढ़ें :  धामी को मिले 94 फीसदी वोट, उनके सामने कोई टिक ही नहीं पाया

यह भी पढ़ें :   नेशनल हेराल्ड मामले में राहुल को ईडी का नया समन

सांसद ओवैसी ने तीखी टिप्पणी करते हुए कहा, ” राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पुरानी रणनीति है कि जब चीजें अलोकप्रिय होती हैं तो बाद में वह उनका मालिक बन जाता है। कोई भी गोडसे और उनके दोस्त सावरकर को याद करता है? बाबरी मस्जिद आंदोलन के दौरान भी कुछ लोगों ने कहा था कि वे सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का पालन करेंगे, जबकि अन्य ने कहा कि यह आस्था का मामला है और कोर्ट फैसला नहीं कर सकती। आप जानते हैं कि ये लोग कौन हैं।”
English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com