Sunday - 23 January 2022 - 3:08 AM

मुर्शिदाबाद हत्याकांड : पीड़ित परिवार ने कहा- किसी भी संगठन से कोई संबंध नहीं

जुबिली न्यूज़ डेस्क

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या के मामले में बढ़ते राजनीतिक विवाद के बीच एक बड़ा खुलासा हुआ है। पीड़ित परिवार ने कहा है कि उनका किसी भी राजनीतिक दल या संगठन के साथ कोई सम्बन्ध नहीं है। परिवार ने इस मुद्दे का राजनीतिकरण करने के लिए दोनों पक्षों को लताड़ भी लगाई है।

बता दें कि इस घटना के बाद से राजनीतिक बयान तेज हो गई है। बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, ‘”इसने मेरी अंतरात्मा को हिलाकर रख दिया है… एक RSS कार्यकर्ता श्री बंधुप्रकाश पाल, उनकी आठ महीने की गर्भवती पत्नी तथा उनके बच्चे को पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में क्रूरता से काट डाला गया… उदारवादियों की ओर से एक शब्द भी नहीं कहा गया… 59 उदारवादियों की तरफ से ममता को एक खत भी नहीं… इस तरह कुछ खास घटनाओं पर ही प्रतिक्रिया दिए जाने से मुझे घिन आती है…”RSS के पश्चिम बंगाल के सचिव जिष्णु बसु के हवाले से समाचार एजेंसी ANI ने बताया कि बंधुप्रकाश पाल RSS कार्यकर्ता थे, और हाल ही में एक ‘साप्ताहिक मिलन’ (बैठक) से जुड़े रहे थे।

बीजेपी सांसद जगन्नाथ सरकार का कहना है कि वह बीजेपी कार्यकर्ता थे उनकी राजनीतिक संबंधों के चलते हत्या की गई है। इस बात का केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने भी समर्थन किया है।

पश्चिम बंगाल पुलिस ने भी सफाई दी

बीजेपी की ओर से लगाए जा रहे आरोपों के बीच मुर्शिदाबाद की घटना को लेकर पश्चिम बंगाल पुलिस ने ट्विटर पर सफाई दी है कि इस घटना का ‘राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है’ पुलिस का कहना है, ‘ मुर्शिदाबाद के कनाईगंज में एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या दुखद घटना है। इस मामले में जांच शुरू होते ही दो लोगों को हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

जांच में पाया गया है कि मृतक बंधुप्रकाश पाल किसी इंश्योरेंस और चेन कंपनी के लिए भी काम करते थे और ‘वित्तीय चुनौतियों’ से का सामना कर रहे थे। उनके परिवार ने भी उनका किसी भी राजनीतिक समूह से जुड़े होने से इनकार किया है। एक डायरी में मिले नोट में पाया गया है कि परिवार में आपसी मतभेद थे। सीआईडी को भी जांच में शामिल होने के लिए कहा गया है। शुरुआती जांच में पाया गया है कि यह घटना व्यक्तिगत दुश्मनी से जुड़ी है। इसका राजनीति से कोई संबंध नहीं है।’

बीजेपी नेताओं के इस दावे के झूठ सबित होने के बाद सोशल मीडिया में भी लोग नाराजगी व्यक्त कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें : आखिर थाने में क्यों लाये गए ‘भगवान हनुमान’

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी की भतीजी का पर्स ले उड़े बदमाश

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com