Wednesday - 1 April 2020 - 8:40 PM

विदेशी मीडिया की नजरों में ‘ट्रम्प की भारत यात्रा’ के मायने !


जुबिली न्यूज़ डेस्क

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपनी पत्नी मेलानिया के साथ राष्ट्रपति भवन में आयोजित डिनर में शिरकत कर रहे हैं। इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को दिल्ली में साझा प्रेस वार्ता की। इस दौरान दोनों नेताओं ने ऐलान किया कि भारत-अमेरिका के बीच 3 बिलियन डॉलर की डिफेंस डील होगी। ट्रंप ने एक ओर जहां रेडिकल इस्लामिक टेररिज्म के खिलाफ बयान दिया तो वहीं पाकिस्तान के साथ अमेरका के बेहतर सम्बन्धों की बात भी कही। साथ ही ट्रम्प ने चीन में फैले कोरोना वायरस पर चिंता भी व्यक्त की।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की पहली भारत यात्रा कई वजह से चर्चा में रही। भारत के साथ ही दुनियाभर की निगाहें इस यात्रा पर थीं। ऐसे में हम आपको बताने जा रहे हैं कि, विदेशी मीडिया ने इस यात्रा को लेकर क्या लिखा है।

यह भी पढ़ें : अखिलेश ने BJP को क्यों जातिवादी पार्टी करार दिया

डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे को लेकर पाकिस्तानी मीडिया की बात करें तो वहां के ज्यादातर मुख्यधारा की मीडिया ने ट्रम्प के उस बयान पर फोकस किया है जिसमें उन्होंने पाकिस्तान और अमेरिका के अच्छे रिश्तों का जिक्र किया है।

पाकिस्तानी अखबार जियो न्यूज ने लिखा, ‘ट्रंप ने भारी भीड़ के सामने कहा, अमेरिका के पाकिस्तान से बहुत अच्छे संबंध’। जियो न्यूज ने लिखा, ‘अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को कहा कि अमेरिका के पाकिस्तान से बहुत अच्छे संबंध हैं और वॉशिंगटन, इस्लामाबाद के साथ बहुत सकारात्मक तरीके से काम कर रहा है। इसके साथ ही जियो न्यूज ने लिखा कि ट्रम्प सीमा पार आतंक पर भारत का समर्थन करता है और कश्मीर और मुस्लिम उत्पीड़न को बढ़ाने में मदद कराता है।

पाकिस्तानी अखबार डॉन ने भी लिखा कि ट्रंप ने पाकिस्तान के साथ संबंधों को मधुर बताया है और कहा कि दक्षिण एशिया के सभी देशों में शांति और स्थिरता स्थापित हो। अखबार ने यह भी लिखा है कि नरेंद्र मोदी की सरकार आने के बाद से भारत व अमेरिकी संबंधों में और ज्यादा खटास आई है। अखबार ने संपादकीय में दावा किया है कि दोनों देशों के बीच संबंध काफी सुस्त है।

इसके अलावा सोशल मीडिया के हवाले एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने एक खबर की है जिसमें डोनाल्ड ट्रंप को दोलन ट्रंप बताया गया है।

CNN इंटरनेशनल ने इस यात्रा की ‘ट्रंप फील्स लव’ नाम से कवरेज की और इसमें कहा गया कि भारतीय प्रधानमंत्री मोदी ने ट्रंप का ठीक वैसा ही स्वागत किया जैसी उम्मीद लगाकर वो आए थे। मोदी-ट्रंप के बीच गर्मजोशी और उनके गले मिलने के अंदाज़ के भी चर्चे रहे। सीएनएन ने कहा कि ट्रंप ने जिस तरह से कई बार ट्रेड डील का ज़िक्र किया उससे साफ़ समझ आ रहा है कि इस पर दोनों देशों की तरफ से काफी पहले ही काम शुरू हो चुका है।

यह भी पढ़ें : आकृति विज्ञा की भोजपुरी कविताएं

न्यूयॉर्क टाइम्स ने ने ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम का ज़िक्र करते हुए कहा है कि दिन भर चले इस कार्यक्रम को भारत ने अपने सबसे बड़े स्टेडियम में आयोजित किया और ये काफी खूबसूरत रहा। हालांकि इसमें ये भी कहा गया है कि दोनों ही नेताओं ने एंटी-मुस्लिम छवि से दूरी बनाते हुए सिर्फ गरीबी हटाने और विकास की योजनाओं को ही केंद्र में रखा।

मीडिया संस्थान क्वार्ट्ज़ ने अपनी रिपोर्ट में अहमदाबाद में झुग्गियों के सामने बनाई गई दीवार को तरजीह दी है। रिपोर्ट में लिखा है, “ट्रंप-मोदी के रोड शो के रास्ते में पड़ने वाली एक झुग्गी को छिपाने के लिए करीब 400 मीटर की दूरी तक चार फुट ऊंची दीवार बनाई गई है।” क्वॉर्ट्ज़ ने इसे इंसानियत को ढका जाना क़रार दिया है।

अमरीकी मैगज़ीन ‘दि अटलांटिक’ ने ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम को ‘हाउडी मोदी’ का सीक्वल बताया है। इसकी रिपोर्ट में लिखा है, “ट्रंप ने हिंदी के कुछ शब्द बोलने की कोशिश की। वह जिस शहर में गए थे, उसका नाम लेने में लड़खड़ाए भी, लेकिन वह जिस भीड़ के लिए भारत गए थे, वह उन्हें मिल गई।”

मैगज़ीन ने मोदी-ट्रंप की दोस्ती को लेकर लिखा है, “ट्रंप मुस्लिमों को बैन करना चाहते हैं, मोदी यह पहले ही कर चुके हैं। ट्रंप मीडिया को फेक न्यूज़ कहते हैं, मोदी सरकार ने आइना दिखाने वाले मीडिया में दरार डाल दी है।”

यह भी पढ़ें : तो क्या दिल्ली पुलिस को ट्रंप के जाने का इंतजार है?

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com