Tuesday - 1 December 2020 - 8:12 PM

कमलनाथ का ये बयान कांग्रेस के लिए घातक साबित हो सकता है !

जुबिली न्यूज़ डेस्क

मध्य प्रदेश में होने जा रहे उपचुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के नेता जनसंपर्क और जनसभाओं में व्यस्त हैं। दोनों ही दलों के नेता जमकर मेहनत कर रहे हैं। लेकिन इसके साथ ही कई तरह के उल्टे सीधे बयान भी दिए जा रहे हैं।

चुनाव के समय इस तरह के बयानों की बाढ़ आना कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन कभी-कभी यही बयान पूरे चुनाव के परिणाम पर असर डाल देते हैं। इसलिए पार्टियां अपने नेताओं को समय-समय पर इस संबंध में चेतावनी भी देती रहती हैं।

अब ऐसा ही कुछ बयान मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने दिया है जिससे पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। कमलनाथ के इस बयान पर सियासी बवाल मच गया है।

यह भी पढ़ें : क्या इन वर्गों पर होने वाला अपराध BJP का सुनियोजित एजेण्डा है ?

बता दें कि, कमलनाथ ने डबरा से कांग्रेस के प्रत्याशी की सभा में मंत्री इमरती देवी के बारे में एक विवादित टिप्पणी की है। इसको लेकर बीजेपी ने चुनाव आयोग से शिकायत की है।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ रविवार को ग्वालियर के डबरा विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस उम्मीदवार सुरेश राजे के समर्थन में प्रचार करने पहुंचे थे। कमलनाथ ने बगैर नाम लिए इमरती देवी पर हमला किया और कहा, ‘हमारे उम्मीदवार सीधे सरल स्वभाव के हैं, उसके जैसे नहीं है, उसका क्या नाम है (जनता की आवाज आई इमरती देवी), मैं उसका नाम क्या लूं, मुझ से ज्यादा आप उसे पहचानते हैं। आप तो मुझे उससे पहले ही सावधान कर देते। ये क्या आइटम है।’

यह भी पढ़ें : राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी का नया नामकरण !

पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ के इस बयान पर बीजेपी हमलावर हो गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ये कमलनाथ की सामंती सोच है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, ‘कमलनाथ जी! इमरती देवी उस गरीब किसान की बेटी का नाम है जिसने गांव में मजदूरी करने से शुरुआत की और आज जनसेवक के रूप में राष्ट्रनिर्माण में सहयोग दे रही हैं। कांग्रेस ने मुझे ‘भूखा-नंगा’ कहा और एक महिला के लिए आपने ‘आइटम’ जैसे शब्द का उपयोग कर अपनी सामंतवादी सोच फिर उजागर कर दी।’

वहीं बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने कहा है कमल नाथ ने नवरात्र के दूसरे दिन अनुसूचित जाति की महिला इमरती देवी को आइटम कहकर नारी शक्ति का अपमान किया है, प्रदेश की जनता इसका जवाब देगी।

गौरतलब है कि, पिछले कुछ समय से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध और दलितों व पिछड़ों के मुद्दे पर बीजेपी शासित राज्यों की सरकारों पर हमलावर रहे हैं ऐसे में कमलनाथ का यह बयान पार्टी को नुकसान पहुंचा सकता है।

यह भी पढ़ें : …तो फिर Coronavirus को लेकर छुपाया गया इतना बड़ा सच

यह भी पढ़ें : अपनी गर्दन रेतकर श्रद्धालु बोला- मां को धरती पर आना होगा, मेरे साथ न्याय करना होगा

यह भी पढ़ें : बिहार चुनाव: परिवारवाद से उबर नहीं पाई पार्टियां

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com