Thursday - 29 October 2020 - 6:53 PM

कैसे आ गयी साइकिल की इतनी डिमांड की टूटने लगे सारे रिकॉर्ड

जुबिली न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली। जीएसटी लागू होने के बाद साइकिल उद्योग की कमर टूट गयी थी, लेकिन कोरोना के आने से साइकिल इंडस्ट्री को काफी बूस्ट मिला है।

साइकिल विनिर्माताओं के राष्ट्रीय संगठन एआईसीएमए के अनुसार मई से सितंबर तक पांच महीनों में देश में कुल 41,80,945 साइकिल बिक चुकी हैं। कोरोना के इस दौर में काफी कुछ बदल गया है। लोगों की लाइफस्‍टाइल से लेकर ट्रैवल करने के तरीकों में भी बदलाव आया है।

अब लोग ट्रैवल के लिए अपने निजी वाहन को प्राथमिकता दे रहे हैं। वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जिन्‍होंने साइकिल खरीदने में दिलचस्‍पी दिखाई है। यही वजह है कि बीते 5 महीने में साइकिल की बिक्री दोगुनी हो गई है।

ये भी पढ़े:उपचुनाव: यूपी की इस सीट पर ‘त्रिपाठी जी’ की जीत पक्‍की

ये भी पढ़े:एक के बाद एक शव मिलने से शहर में मचा हडकंप, CM ने जांच के आदेश दिए

साइकिल विनिर्माताओं के राष्ट्रीय संगठन एआईसीएमए के अनुसार मई से सितंबर 2020 तक पांच महीनों में देश में कुल 41,80,945 साइकिल बिक चुकी हैं।

ऑल इंडिया साइकिल मैन्युफेक्चरर्स एसोसिएशन के महासचिव केबी ठाकुर के मुताबिक साइकिलों की मांग में बढ़ोतरी अभूतपूर्व है। शायद इतिहास में पहली बार साइकिलों को लेकर ऐसा रुझान देखने को मिला है।

ये भी पढ़े: स्मृतियों में जिंदा कलाम प्रेरणा भी हैं और आइना भी

ये भी पढ़े: भारत में कोविड-19 के मामलों के दोगुने होने का समय अब बढ़कर 70.4 दिन हो गया है- स्वास्थ्य मंत्रालय

ठाकुर के मुताबिक इन पांच महीनों में साइकिलों की बिक्री 100 प्रतिशत तक बढ़ी है। कई जगह लोगों को अपनी पसंद की साइकिल के लिए इंतजार करना पड़ रहा है, बुकिंग करवानी पड़ रही है। संगठन के आंकड़ों के अनुसार कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के बाद लॉकडाउन के कारण अप्रैल महीने में देश में एक भी साइकिल नहीं बिकी।

मई महीने में यह आंकड़ा 4,56,818 रहा। जून में यह संख्या लगभग दोगुनी 8,51,060 हो गयी जबकि सितंबर में देश में एक महीने में 11,21,544 साइकिल बिकीं। बीते पांच महीने में कुल मिलाकर 41,80,945 साइकिल बिक चुकी हैं।

जानकारों के मुताबिक कोरोना महामारी ने लोगों को अपनी सेहत व इम्युनिटी को लेकर तो सजग बनाया है। इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर भी लोग सचेत हुए हैं।

ऐसे में साइकिल उनके लिए ‘एक पंथ कई काज’ साधने वाले विकल्प के रूप में सामने आई है। वहीं, अनलॉक के दौरान सड़कों पर वाहनों की संख्या व प्रदूषण में कमी के कारण भी लोग साइक्लिंग को लेकर प्रोत्साहित हैं।

ये भी पढ़े: आईएमएफ की रिपोर्ट पर केंद्र सरकार ने क्या कहा?

ये भी पढ़े: सवर्ण पार कराएंगे बिहार में बीजेपी की चुनावी वैतरणी!

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com