Monday - 30 January 2023 - 3:40 AM

होमगार्ड ऑफिस के बक्से में लगी आग, सपा बोली- साक्ष्य किए गए जला कर खाक

जुबिली न्यूज़ डेस्क

ग्रेटर नोएडा में होमगार्ड घोटाले को लेकर जांच के आदेश दे दिए गए है। लेकिन जांच के बीच होमगार्ड के दफ्तर में बक्से में आग लगने का मामला सामने आया है। बक्से में घोटाले से जुड़े दस्तावेज होने की आशंका बताई जा रही है। माना जा रहा है कि रात को जानबूझकर आग लगाई गई थी।

एसएसपी वैभव कृष्ण ने कहा कि सोमवार रात में आग केवल एक बक्से में ही लगी है। 2014 के बाद के मस्टर रोल उस बक्से में रखने की बात सामने आ रही है जिस बक्से में आग लगी है। मंगलवार सुबह विभाग की तरफ से पुलिस अधिकारियों को आग की जानकारी से अवगत कराया गया। आग कैसे लगी और किसने लगाई इस बात की जांच जारी है। उधर, मुख्य अग्निशमन अधिकारी अरूण कुमार सिंह ने कहा कि मंगलवार सुबह के समय ही आग की जानकारी मिली है। हालाँकि आग कैसे लगी इसकी जानकारी अभी तक नहीं मिल सकी है।

उल्लेखनीय है कि एसएसपी वैभव कृष्ण से जुलाई माह में एक होमगार्ड ने फर्जीवाड़ा कर होमगार्डो के डयूटी का फर्जी मस्टररोल तैयार कर भुगतान की शिकायत की थी। एसएसपी के निर्देश पर एसपी सिटी विनीत जायसवाल ने प्राथमिक जांच शुरू की। केवल मई जून में ही शहर की सात कोतवाली की हुई जांच में ही बड़े स्तर पर डयूटी के मस्टररोल में गड़बड़ियां मिली थी, सात लाख से अधिक फर्जी भुगतान पकड़ा गया।

फर्जी मस्टररोल तैयार कर हुए भुगतान में करीब 50 फीसद से अधिक फर्जी डयूटी पकड़ी गई थी, जबकि कोतवाली में काम करने वाले होमगार्ड की फर्जी मस्टर रोल बनाने में फर्जी मोहरों के इस्तेमाल की बातें सामने आई थी। जिसके बाद एसएसपी ने इस प्रकरण की शिकायत शासन स्तर पर की थी। फर्जीवाड़े की जांच के लिए शासन स्तर से एक कमेटी बनाई गयी थी, उस कमेटी ने भी जांच किया। 13 नवंबर को इस प्रकरण में कोतवाली सूरजपुर में धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में एफआइआर दर्ज की गई थी। जिसके बाद से पुलिस जांच में लग गयी थी।

बता दें कि नोएडा में होमगार्डों की ड्यूटी लगाए बिना उनका मानदेय हड़पे जाने का घोटाला सामने आया था। जिसकी जांच के लिए एसएसपी वैभव कृष्ण ने जिला स्तर पर विशेष जांच दल यानी एसआईटी बनाई थी।

समाजवादी पार्टी ने इस सम्बन्ध में ट्वीट करते हुए योगी सरकार पर निशाना साधा है। लिखा है कि, नोएडा होमगॉर्ड दफ्तर में सत्ता द्वारा लगाई आग में होमगॉर्ड ड्यूटी घोटाले के साक्ष्य किए गए जला कर खाक ! भ्रष्टाचार की आंच में हाथ सेंक रहे मंत्री और अधिकारी हुए आजाद! जांच का ड्रामा करना बंद करें मुख्यमंत्री। जनता जानती है किसने रचा है घोटालेबाजों को बचाने का षड्यंत्र।

यह भी पढ़ें : ममता को ओवैसी से क्यों डर लगता है ?

यह भी पढ़ें : शिवसेना-बीजेपी को आरएएस प्रमुख ने क्या नसीहत दी

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com