जरूरत से ज्यादा न पीएं नींबू-पानी, जानिए इसके क्या हैं साइड इफेक्ट?

जुबिली न्यूज डेस्क

गर्मी का सबसे बड़ा एनर्जी ड्रिंक नीबू-पानी। वजन कम करना हो तो सुबह खाली पेट नीबू-पानी। बदहजमी-गैस की समस्या हो तो नीबू-पानी। खाने में स्वाद बढ़ाना हो तो नीबू-प्याज। ऐसी कई समस्याएं है जिसके निदान के लिए हम नीबू का यूज करते हैं।

नीबू हमारे खान-पान में अहम जगह है। यह बहुत फायदेमंद है इसलिए फ्रिज में दो-चार नीबू तो रहता ही है। वैसे तो नीबू की डिमांड गर्मी में बढ़ जाती है लेकिन इसका यूज बारहों महीने होता है।

अभी तक हमने नीबू के बहुत सारे फायदे सुना है आज हम नीबू के साइड इफेक्ट के बारे में बात करेंगे। पानी में नीबू निचोडक़र पीने से जहां शरीर को विटामिन सी, पोटेशियम और फाइबर भी मिलता है तो वहीं कई फायदों से भरपूर नींबू पानी को अगर जरूरत से अधिक पिया जाए तो इससे सेहत को बड़ा नुकसान हो सकते हैं। तो चलिए जानते हैंं नींबू-पानी के कुछ साइड इफेक्ट्स।

दातों में होती है परेशानी

विशेषज्ञों के अनुसार नींबू पानी बहुत अधिक पीने से दांतों को नुकसान पहुंचता है। नींबू में सिट्रिक एसिड होता है, जिसकी वजह से ये दांतों के इनेमल को खराब कर सकते हैं।

यदि आप नींबू-पानी को पूरी तरह से नहीं छोड़ सकते हैं, तो इसे अपने दांतों पर सीधे एसिड एक्सपोजर को कम करने के लिए स्ट्रॉ से पीने की कोशिश करें। इसके अलावा नींबू-पानी पीने के बाद तुरंत अपने दांतों को ब्रश करने से बचना चाहिए।

यह भी पढ़ें : हरियाणा बोर्ड की किताब पर बवाल, देश के बंटवारे के लिए बताया इन्हें जिम्मेदार

यह भी पढ़ें : जिस फिल्म की मोदी ने की थी तारीफ उसे सिंगापुर ने किया बैन, कहा- दुश्मनी फैलाने…

यह भी पढ़ें : ताजमहल का विवाद पहुंचा हाईकोर्ट

मुंह में हो सकते हैं छाले

कई रिसर्च में यह भी पाया गया है कि अधिक नींबू-पानी पीने से छाले की समस्या हो सकती है। नींबू में मौजूद साइट्रिक एसिड मुंह के अंदर पाए जाने वाले टिशू में सूजन और जलन की परेशानी को बनाता है। ऐसे में आपके दांत और मसूड़े सेंस्टिविटी का शिकार होते हैं।

पेट में हो सकता है दर्द

पानी में बहुत अधिक नींबू निचोडऩे से गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स रोग (जीईआरडी) और एसिड रिफ्लक्स जैसी सामान्य परेशानी हो सकती हैं। इसके लक्षणों में गुस्सा, मतली और उल्टी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें :   मोहाली ब्लास्ट को लेकर सीएम भगवंत मान ने क्या कहा?

यह भी पढ़ें :  ओडिशा की ओर बढ़ रहा चक्रवाती तूफान ‘असानी’, आंध्र में तेज आंधी के साथ बारिश

यह भी पढ़ें :  Mother’s day : अगर वास्तव में माँ बनना आसान होता    

माइग्रेन की समस्या

रिपोर्ट्स के अनुसार सिट्रस फ्रूट्स माइग्रेन की समस्या को बढ़ा सकते हैं, क्योंकि सिट्रस फ्रूट्स में टायरामाइन नाम का खास तत्व होते हैं, जो माइग्रेन की समस्या को बढ़ा सकते हैं।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com