Thursday - 4 March 2021 - 3:39 PM

नाईट कर्फ्यू के बावजूद BJP नेता ने पौत्री की सगाई में बुलाये छह हज़ार मेहमान

जुबिली न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली. कोरोना महामारी से दुनिया इस कदर दहली हुई है कि धार्मिक स्थलों में जाने वालों की संख्या सीमित कर दी गई है. मोहर्रम के जुलूसों और गणेश विसर्जन पर रोक लगा दी गई. शादियों में सिर्फ 100 मेहमान बुलाने की अनुमति दी गई है. इन मेहमानों पर नज़र रखने के लिए पुलिस और प्रशासन को एलर्ट किया गया है लेकिन प्रधानमन्त्री के गृह राज्य गुजरात में हुई एक शादी में सारे नियम कानूनों की धज्जियां उड़ा दी गईं. अब गृहमंत्री ने जांच के आदेश दिए हैं.

मामला गुजरात के तापी जिले के डोसवाडा गाँव का है. यहाँ पर राज्य की पूर्व मंत्री और मौजूदा समय में बीजेपी विधायक कान्ति सिंह की पौत्री की सगाई में छह हज़ार से भी ज्यादा लोग शामिल हुए. बड़े नेता के घर सगाई कार्यक्रम हो और यह बड़ा नेता भी सत्ता पक्ष का विधायक हो तो फिर प्रशासन और पुलिस की क्या बिसात. हज़ारों की भीड़ जमा हो गई और घंटों गरबा खेला गया.

कोरोना के मामले में गुजरात की हालत अच्छी नहीं है. इस राज्य में संक्रमित लोगों की बात करें तो इस समय दो लाख 11 हज़ार 257 लोग संक्रमित हो चुके हैं. चार हज़ार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है. जिस जिले में बीजेपी नेता की पौत्री की सगाई के कार्यक्रम में नियमों की धज्जियां उड़ाई गईं उस जिले में अब तक 961 मरीज़ मिल चुके हैं.

गुजरात में बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनज़र सरकार ने रात के कर्फ्यू का आदेश दिया है. बगैर मास्क आम आदमी दिख भर जाए तो पुलिस उसे बगैर जुर्माना लिए छोड़ती नहीं है. ऐसे हालात में बीजेपी नेता ने पौत्री की सगाई में छह हज़ार मेहमान बुलाकर हज़ारों लोगों की जान खतरे में डाल दी.

मामले ने तूल पकड़ा तो सूरत रेंज के आईजी राजकुमार पांडियन के आदेश पर शिकायत दर्ज करने के बाद पुलिस ने पूर्व मंत्री से पूछताछ की. गृहमंत्री प्रदीप जडेजा ने सगाई के वीडियो की जांच के आदेश दिए. बताया जा रहा है कि लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जायेगी.

यह भी पढ़ें : योगी के दौरे से मायानगरी में चढ़ा सियास पारा

यह भी पढ़ें : “लिस्टिंग सेरेमनी” में शामिल होंगे सीएम योगी, जानिए क्‍या होगा खास

यह भी पढ़ें : किसानों से नही बनी बात, अब चिल्ला बॉर्डर भी बंद

यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : क्योंकि दांव पर उसकी नहीं प्रधानमंत्री की साख है

पुलिस की पूछताछ में पूर्व मंत्री ने बताया कि मेरी पौत्री की सगाई में दो हज़ार लोगों के खाने का इंतजाम किया गया था. व्हाट्सएप से सूचना पाकर बड़ी संख्या में लोग आ गए. उन्होंने कहा कि हमारा गाँव आदिवासी इलाके में आता है और हम अपने घर आने वाले किसी भी व्यक्ति को मना नहीं कर सकते.

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com