Thursday - 4 March 2021 - 3:17 PM

यूपी में फिल्म सिटी पर महाराष्ट्र में महाभारत, योगी के दौरे से चढ़ा सियासी पारा

जुबिली न्‍यूज डेस्‍क

यूपी फिल्म सिटी को लेकर जारी सियासी जंग के बीच मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ  महाराष्‍ट्र दौरे पर हैं। मुंबई पहुंचकर यूपी के सीएम ने फिल्मी सितारों से मुलाकात की। फिल्‍म सिटी के लिए योगी की इस तेजी को देखकर महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल तेज हो गई है। यूपी फिल्म सिटी के लिए इस हलचल को देखकर सीएम उद्धव ठाकरे की नींद उड़ी हुई है।

योगी के दौरे से पहले उनके बयान में भी बेचैनी साफ झलकी। उद्धव ठाकरे ने बिना नाम लिए कहा कि कोई भी यहां से जबरन बिजनस लेकर नहीं जा सकता है।

इंडियन मर्चेंट ऑफ चेम्बर्स ऑफ कॉमर्स में बात करते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कल कहा था कि महाराष्ट्र मैग्नेटिक राज्य है। उद्योगपतियों में आज भी महाराष्ट्र का आकर्षण कायम है। राज्य का कोई भी उद्योग बाहर नहीं जाएगा, बल्कि अन्य राज्यों के उद्योगपति भी महाराष्ट्र में उद्योग लगाने के लिए आएंगे। राज्य के उद्योग राज्य में ही रहेंगे।

सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा था कि कम्पटीशन होना अच्छी बात है, लेकिन चिल्लाकर, धमकाकर कोई लेकर जाना चाहेगा तो मैं वो होने नहीं दूंगा। आज भी कुछ लोग आपसे मिलने आएंगे और कहेंगे कि हमारे यहां आ जाओ। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सीएम योगी आदित्ययाथ का नाम लिए बिना कहा था, ‘दम हैं तो यहां के उद्योग को बाहर लेकर जाएं।’

वहीं, महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने मुंबई में सीएम योगी के बॉलीवुड हस्तियों से मीटिंग के पहले बड़ा बयान दिया और कहा कि सीएम योगी यहां फिल्म सिटी और इंडस्ट्री को दी जा रही सुविधाओं का अध्ययन करने के लिए आ रहे हैं, लेकिन कोई भी फिल्म सिटी और इसके ग्लैमर को मुंबई से दूर नहीं ले जा सकता है।

ये भी पढ़ें: “लिस्टिंग सेरेमनी” में शामिल होंगे सीएम योगी, जानिए क्‍या होगा खास

कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने कहा कि जब बीजेपी महाराष्ट्र में सत्ता में थी तब कई उद्योग और कार्यालय गुजरात स्थानांतरित कर दिए गए थे। महाराष्ट्र में सरकार बदल गई, लेकिन बीजेपी उत्तर प्रदेश सरकार के नाम पर अब बॉलिवुड का एक टुकड़ा ले जाने की पटकथा तैयार कर रही है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि बीजेपी के शासनकाल में जो कुछ हुआ, हम फिर वह नहीं होने देंगे।

इस बीच सीएम योगी आदित्यनाथ, मुंबई में जिस पांच सितारा होटल में हैं, उसके बाहर मनसे ने मराठी में पोस्टर लगाए। इस पोस्टर में नोएडा में प्रस्तावित फिल्म सिटी को लेकर निशाना साधा गया। मनसे ने सीएम योगी आदित्यनाथ का नाम लिए बिना उन्हें ठग कहा।

Mumbai: UP CM Yogi Adityanath stayed in the hotel, posters against the Chief Minister outside the same hotel

मनसे ने अपने पोस्टर में लिखा है, ‘दादासाहेब फालके द्वारा बनाए गए फिल्मसिटी को यूपी ले जाने का मुंगेरी लाल का सपने है।’ पोस्टर में यह भी लिखा है, ‘कहां राजा भोज, कहां गंगू तेली, कहां महाराष्ट्र का वैभव और कहां यूपी की दरिद्रता। नाकाम राज्य की बेरोजगारी छुपाने के लिए मुंबई के उद्योग को यूपी ले जाने आया है ठग।’

शिवसेना और कांग्रेस का जवाब देने के लिए योगी सरकार में मंत्री मोहसिन रजा ने कमान संभाली है। उन्‍होंने उद्धव ठाकरे सरकार पर अंडरवर्ल्ड से साँठगाँठ का आरोप लगाया है. वे कहते हैं बॉलीवुड के बड़े बड़े लोग यूपी वाले फ़िल्म सिटी से जुड़ना चाहते है लेकिन उन्हें धमकी देकर ऐसा करने से रोका जा रहा है।

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, ‘मुंबई के फिल्म सिटी को दूसरी जगह शिफ्ट करना आसान नहीं है। दक्षिण भारत में भी फिल्म उद्योग बड़ा है, पश्चिम बंगाल और पंजाब में भी फिल्म सिटी हैं। क्या योगी जी इन स्थानों पर भी जाएंगे और वहां के निर्देशकों/ कलाकारों से बात करेंगे या क्या वह केवल मुंबई में ही ऐसा करने जा रहे हैं?’

उन्होंने आगे कहा, ‘मैंने देखा कि योगी जी मुंबई में किसी 5 स्टार होटल में अक्षय कुमार के साथ बैठे हैं। शायद अक्षय जी आम की टोकरी लेकर गए होंगे। मुंबई की फिल्म सिटी को कोई यहां से ले जाने की बात अगर करता है तो पहले योगी जी ये बताएं कि नोएडा फिल्म सिटी की अभी क्या हालत है?।’ बता दें कि बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुंबई में मुलाकात की थी।

दूसरी ओर नोएडा में फिल्म सिटी की तैयारियों ने रफ्तार पकड़ ली है। अथॉरिटी ने फिल्म सिटी की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) बनाने लिए एजेंसी से 3 दिसंबर तक आवेदन मांगे गए हैं। 7 दिसंबर को तकनीकी निविदा खोली जाएगी। 15 दिसंबर तक कंपनी का चयन कर लिया जाएगा।

यमुना अथॉरिटी एरिया के सेक्टर 21 में 1 हजार एकड़ में फिल्म सिटी बनाई जाएगी। इसका ऐलान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कर चुके हैं। सीएम के ऐलान के बाद से ही यमुना अथॉरिटी फिल्म सिटी विकसित करने के काम में जुटी हुई है। यमुना अथॉरिटी ने फिल्म सिटी बनाने को लेकर डीपीआर तैयार करने वाली एजेंसी की तलाश में लगी है। इसके लिए 29 अक्टूबर को रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल निकाला गया था। इसमें 25 नवंबर को निविदा खोली जानी थी।

ये भी पढ़ें : यॉर्करमैन को टीम इंडिया में जगह, धवन लौटे पवेलियन

अथॉरिटी ने इसकी डेट आगे बढ़ाकर 3 दिसंबर तक कर दी थी। अब बुधवार तक आवेदन लिए जाएंगे। यमुना अथॉरिटी के ओएसडी शैलेंद्र भाटिया का कहना है कि 7 दिसंबर को तकनीकी निविदा खोली जाएगी। इसके बाद सभी पहलुओं का परीक्षण किया जाएगा। 15 दिसंबर तक एजेंसी का चयन कर लिया जाएगा। उन्होंने ने बताया कि चयनित कंपनी 2 महीने में फिजबिलिटी रिपोर्ट सौंप देगी। जबकि 3 महीने में डीपीआर देगी।

इस विस्तृत रिपोर्ट में फिल्म सिटी का पूरा खाका तैयार होगा। इसके बाद इस परियोजना पर काम शुरू कर दिया जाएगा। डीपीआर के साथ ही एजेंसी फिल्म सिटी के विकास का मॉडल बनाएगी। यह भी बताएगी कि इसके लिए किस तरह से फंड का इंतजाम होगा। यह सब काम अगले साल मार्च तक पूरा कर लिया जाएगा।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com