Wednesday - 8 July 2020 - 7:35 AM

देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या हुई 5 लाख 66 हजार 840

जुबिली न्यूज़ डेस्क

देश में कोरोना संक्रमण के मामलें रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किये गये ताजा आकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में देश में 18 हजार 893 नए मामलें सामने आये हैं। जबकि 418 लोगों की मौत हो गई है। इससे कोरोना मरीजों का आंकड़ा 5 लाख 66 हजार 840 पर पहुंच गया है। वहीं मरने वालों की संख्या 16 हजार 893 पहुंच गई है।

जारी किये गये आंकड़ों के अनुसार देश में अब तक 3 लाख 34 हजार लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, एक्टिव मामलें 2 लाख 15 हजार से अधिक है। आईसीएमआर के अनुसार, 29 जून तक कुल 86 लाख 8 हजार 654 सैंपल का टेस्ट किया गया, जिनमें से 2 लाख 10 हजार 292 सैंपल का टेस्ट कल यानी सोमवार को किया गया था।

कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित महाराष्ट्र है। यहां कुल मरीजों का आंकड़ा एक लाख 69 हजार 883 हो गया है। इसमें 7 हजार 610 लोगों की मौत हो चुकी है, साथ ही करीब 89 हजार लोग ठीक हो चुके हैं। यहां एक्टिव मामलों की संख्या 73 हजार 313 है। वहीं दिल्ली में कुल मरीजों का आंकड़ा 85 हजार से अधिक है, जिसमें 2680 लोगों की मौत हो चुकी है।

ये भी पढ़े : पीएम नरेंद्र मोदी आज करेंगे देश को संबोधित

ये भी पढ़े :अखिलेश ने योगी के इस फैसले पर उठाया सवाल

ये भी पढ़े : कांग्रेस नेता की गिरफ्तारी पर भड़की प्रियंका, बोलीं- हमारी आवाज़ नहीं दबा सकते

क्या कहा विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस ने कहा, ‘ये पता लगाना आवश्यक है कि आखिर वायरस आया कहां से है। इसके लिए अगले हफ्ते हम एक टीम चीन भेज रहे हैं।’

तमिलनाडु सहित इन राज्यों ने बढाया लॉकडाउन

तमिलनाडु सरकार ने 31 जुलाई तक जनरल लॉकडाउन बढ़ा दिया है। जबकि चेन्नई और आसपास के इलाके में 5 जुलाई तक सख्त लॉकडाउन लागू रहेगा। इसके अलावा महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल और झारखंड में भी लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ाया गया है। वहीं मणिपुर में 15 जुलाई तक लॉकडाउन को बढ़ाया गया है।

पीपीई किट के सीमित निर्यात को मंजूरी

घरेलू बाजारों में पीपीई किट पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध होने की वजह से केंद्र सरकार ने पीपीई किट के सीमित निर्यात को मंजूरी दे दी है। इसी को देखते हुए सरकार ने यह फैसला किया है। सरकार ने नॉटिफिकेशन जारी करके कहा है कि हर महीने 50 लाख पीपीई किट का निर्यात किया जा सकता है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com