Wednesday - 21 October 2020 - 3:56 AM

हाथरस की बेटी के इंसाफ के लिए सड़क पर उतरी कांग्रेस

हाथरस की बेटी की मौत पर कांग्रेसियों ने निकाला कैंडल मार्च

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के हाथरस की गैंगरेप पीडि़त युवती की दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई। इस मामले में लगातार राजनीति भी देखने को मिल रही है। जहां एक ओर सपा से लेकर बसपा ने योगी सरकार की कड़ी आलोचना की है और साथ में कानून व्यवस्था को लेकर सरकार को घेरा है। दूसरी ओर इस मामले में प्रियंका गांधी लगातार योगी सरकार को अपनी रडार पर ले रही है। उधर बेटी को इंसाफ और दोषियों को फांसी दिलाने की मांग को लेकर युवती के परिजन अब भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं के साथ अस्पताल के बाहर भूख हड़ताल पर बैठ गए गए हैं।

इसके साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी मंगलवार शाम को सफदरजंग अस्पताल में कैंडल मार्च निकालकर हाथरस गैंगरेप पीडि़ता के लिए इंसाफ की लड़ाई में उसके परिवार को मदद का भरोसा दिया। हाथरस की बेटी के इंसाफ के लिए कांग्रेस का प्रदेश व्यापी प्रदर्शन किया है।

इसके तहत लखनऊ, इलाहाबाद, प्रतापगढ़ बुलंदशहर समेत कई जिलों में कांग्रेस ने कैंडल मार्च निकाला है। हालांकि लखनऊ में लखनऊ में प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू को पुलिस ने कैंडिल मार्च निकालने से रोका गया है।

यह भी पढ़ें : औषधीय गुणों वाले गांजे पर इतना हंगामा क्यों?

यह भी पढ़ें :  पाकिस्तान : विपक्षी दलों के निशाने पर सेना

यह भी पढ़ें :  पश्चिम बंगाल में नया नहीं है राज्यपाल और सरकार का टकराव

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना और राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने संयुक्त वार्ता में मीडिया से कहा कि प्रदेश की योगी सरकार महिलाओं की रक्षा करने में सक्षम नहीं है।

उन्होंने कहा कि आज का दिन बहुत दु:खद है जब यूपी की एक और दलित बेटी हैवानियत का शिकार होकर जिन्दगी की जंग हार गयी। कांग्रेस पार्टी संवेदना व्यक्त करती है और पीडि़त परिजनों के साथ खड़ी है। उन्होने कहा कि आज उ.प्र. में अपराध सिर चढ़कर बोल रहा है। जंगलराज एवं गुण्डाराज कायम हो चुका है, यह अधिकारी, अपराधी और सरकार के गठजोड़ का भयावह परिणाम है।

उन्होंने कहा कि आखिर अब भी प्रदेश की राज्यपाल महामहिम आनंदीबेन पटेल चुप क्यों हैं। दलित बेटी के साथ इतनी बडी नाइंसाफी होने के बाद भी आखिर कानून व्यवस्था पर उनकी प्रतिक्रिया क्यों नहीं है। वह अपराधियों को बचाने वाली सरकार के साथ खड़ी हैं।

यह भी पढ़ें : आपके बच्चे की सेहत बिगाड़ सकता है बेबी डायपर

यह भी पढ़ें : कृषि कानून को निष्प्रभावी करने के लिए कांग्रेस सरकारें उठा सकती हैं ये कदम

यह भी पढ़ें : अभिभावकों को ऑनलाइन क्लास से क्यों लग रहा है डर ?

गौरतलब है कि हाथरस में गैंगरेप की शिकार 19 वर्षीय दलित युवती की मंगलवार सुबह दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई। हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में 14 सितंबर को 19 साल की एक दलित युवती के साथ कथित तौर पर गैंगरेप की वारदात हुई थी। पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

 

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com