Thursday - 9 February 2023 - 11:39 AM

पीएम मोदी से बच्चों की गुहार, हमें साफ….

न्यूज डेस्क

राजधानी दिल्ली की जहरीली हवा से बच्चे हलकान है। प्रदूषित हवा की वजह से बच्चे घर में कैद हो गए हैं। वह अपना पंसदीदा खेल भी नहीं खेल पा रहे हैं। गुुरुवार को प्रदूषण की वजह से स्कूल बंद रहा जिसकी वजह से बच्चों बाहर जाकर बाल दिवस भी नहीं मना सके। अब बच्चों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर उनसे साफ हवा मुहैया कराने की गुहार लगाई है।

प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखने वाले छात्र इशांत महंत ने लिखा कि- मुझे फुटबाल खेलना बेहद पसंद है, लेकिन प्रदूषण के कारण घर से बाहर नहीं जा पा रहा हूं। अब टीवी पर ही फुटबाल देखकर अपना मन बहला रहा हूं।

वहीं एक अन्य छात्र ने अपने पत्र में लिखा है कि इस समय प्रदूषण के लिए केंद्र व प्रभावित राज्यों की सरकारों को कड़े कदम उठाने की जरूरत है। हमें विश्वास है कि प्रधानमंत्री इस मुद्दे पर जरूर कोई कड़ा फैसला लेंगे।

दिवाली बाद से ही दिल्ली में प्रदूषण को लेकर हाहाकार मचा हुआ है। दिलवालों की दिल्ली अब मास्क वालों की दिल्ली बन गई है। अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ गई है। सरकार से लोग गुहार लगा रहे हैं। इतना ही नहीं पिछले दिनों हुए सर्वें में खुलासा हुआ था कि दिल्ली-नोएडा के करीब 40 प्रतिशत लोग प्रदूषण की वजह से दिल्ली छोड़कर किसी और जगह जाना चाहते हैं।

फिलहाल इस दिशा में नोबल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने भी प्रदूषण पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए पीएम मोदी को पत्र लिखकर एयर एक्ट-1981 में संशोधन कर पंचवर्षीय कार्य योजना तैयार करने का आग्रह किया है।

दिल्ली में प्रदूषण के खतरनाक स्तर से चिंतित सत्यार्थी ने लोगों को स्वच्छ हवा मुहैया करवाने के लिए इस दिशा में पहल करते हुए मोदी से आग्रह किया है। बाल दिवस के मौके पर बचपन बचाओ आंदोलन की तरफ से बच्चों के लिए इंडिया गेट पर आयोजित कार्यक्रम को प्रदूषण की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए स्थगित कर दिया गया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भेजे गए पत्र में कैलाश सत्यार्थी ने लिखा है कि मैं सभी के साथ खड़ा हूं। देश के प्रधानमंत्री से अपील है कि एयर एक्ट 1981 में बदलाव सहित पांच वर्ष के लिए नेशनल एक्शन प्लान तैयार कर लागू करवाएं ताकि देश वासियों को स्वच्छ हवा मिल सके।

सत्यार्थी ने अपील करते हुए कहा कि हमें स्वच्छ इरादे के साथ हवा की स्वच्छता के लिए भी पहल करनी चाहिए। इसके तहत नीति निर्धारक, कारोबारी, ग्राहक सहित सभी नागरिकों से भी हवा, पानी और जमीन को साफ सुथरा बनाए रखने में सतत सहयोग को जरूरी बताया।

उन्होंने कहा कि इसके लिए जरूरी है कि नई नीति तैयार की जाए ताकि प्रदूषण पर रोक लगाने के तमाम तरीकों को अपनाकर, प्रदूषण के खिलाफ लड़ाई में जीत मिल सके।

यह भी पढ़ें : महाशिव गठबंंधन का ड्राफ्ट तैयार, गडकरी बोले- राजनीति में कुछ भी संभव

यह भी पढ़ें :  कुशीनगर मस्जिद विस्फोट मामले का मास्टरमाइंड चढ़ा यूपी पुलिस के हत्थे

यह भी पढ़ें :  गुस्से में हो बीवी तो कैसे करे हैंडल

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com