Friday - 21 January 2022 - 8:13 PM

बीजेपी नेता ने दिग्विजय सिंह के पिता को बताया गद्दार

जुबिली न्यूज़ ब्यूरो

नई दिल्ली. मध्य प्रदेश में कांग्रेस का साथ छोड़कर बीजेपी में जाने और कांग्रेस सरकार गिरा देने के समय मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को गद्दार कहा था. सिंधिया ने तब दिग्विजय के बयान पर खामोशी अख्तियार कर ली थी मगर अब एक बीजेपी नेता ने एक पुराने पत्र का हवाला देते हुए दिविजय सिंह के पिता को गद्दार बताया है.

बीजेपी नेता पंकज चतुर्वेदी ने दिग्विजय सिंह के पिता बलभद्र सिंह पर अंग्रेजों की भक्ति का आरोप लगाया है. एक पत्र का हवाला देते हुए पंकज चतुर्वेदी ने कहा है कि जिस दौर में देशभक्त अंग्रेजों की गोलियों से शहीद हो रहे थे उस दौर में दिग्विजय सिंह के पिता ने अंग्रेजों अफसरों को पत्र लिखकर बताया था कि उनके वंशज अंग्रेजों की लम्बे समय से सेवा कर रहे हैं. ऐसे में उनके परिवार को सुविधाएं मिलनी चाहिए.

 

पंकज चतुर्वेदी के अनुसार दिग्विजय सिंह के पिता ने अंग्रेज़ अफसरों को यह पत्र 16 सितम्बर 1939 को लिखा था. इस पत्र में उन्होंने बताया था कि उनके पूर्वजों ने 1779 से ब्रिटिश हुकूमत की लगातार सेवा की है. उन्होंने लिखा कि मेरे पिता ने तो निजी तौर पर अपनी सेवायें दी हैं. बलभद्र सिंह ने लिखा था कि पिछले युद्ध के समय ब्रिटिश हुकूमत को राघोगढ़ ने अपनी भरपूर सेवा दी. मैं निजी तौर पर वफादारी से भरी सेवा देना अपना धर्म मानता हूँ. यह पत्र सरकार के संज्ञान में है. 2002 में पुरातत्व विभाग ने राजकीय अभिलेखागार में जो प्रदर्शनी लगाई उसमें यह पत्र प्रदर्शित किया गया था. उस समय दिग्विजय सिंह खुद मुख्यमंत्री थे.

बीजेपी नेता ने कहा कि दिग्विजय सिंह इतिहासकार राजा रघुवीर सिंह को पढ़ें. इतिहासकार के मुताबिक़ दिग्विजय सिंह के पूर्वजों को मुगलों से वफादारी के एवज़ में राघोगढ़ मिला था.

यह भी पढ़ें : जैकलिन फर्नांडीज़ और नोरा फतेही पर दोनों हाथों से दौलत लुटाता था सुकेश

यह भी पढ़ें : योगी सरकार काशी में जो करने जा रही है इतिहास में किसी मुख्यमंत्री ने नहीं किया

यह भी पढ़ें : भगवंत मान ने किया दावा बीजेपी ज्वाइन करने पर बनायेंगे कैबिनेट मंत्री

यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : केशव बाबू धर्म का मंतर तभी काम करता है जब पेट भरा हो

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com