Wednesday - 5 August 2020 - 3:25 PM

‘मीडिया की हेडलाइन मैनेज करने से आर्थिक सुधार नहीं होता’

न्यूज डेस्क

देश में आर्थिक मंदी है। जीडीपी चार फीसदी पर पहुंच गयी है। ऑटो मोबाइल सेक्टर की हालत खराब है। लोगों की नौकरियां जा रही हैं और मोदी सरकार पांच ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था की बात कर रही है।

ऐसी ही कुछ बातें इन दिनों विपक्षी दलों के नेता कह रहे हैं। आर्थिक मंदी को लेकर मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर है। अर्थशास्त्री व पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी भारत की अर्थव्यवस्था पर चिंता जता चुके हैं और उन्होंने इसके लिए नोटबंदी को जिम्मेदार ठहराया। इसी कड़ी में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने गिरती अर्थव्यवस्था पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा है।

प्रियंका ने बुधवार को एक ट्वीट कर कहा कि अब निवेशक भी मोदी सरकार से दूर होने लगे हैं। प्रियंका गांधी ने लिखा, ‘चकाचौंध दिखा कर रोज 5 ट्रिलियन-5 ट्रिलियन बोलते रहने या मीडिया की हेडलाइन मैनेज करने से आर्थिक सुधार नहीं होता। विदेशों में प्रायोजित इवेंट करने से निवेशक नहीं आते। निवेशकों का भरोसा डगमगा चुका है। आर्थिक निवेश की जमीन दरक गई है।’

प्रियंका यहीं नहीं रूकी। एक और ट्वीट करते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा कि, भाजपा सरकार सच्चाई को स्वीकर नहीं कर रही है। उनका कहना था, ‘आर्थिक महाशक्ति बनने की दिशा में मंदी स्पीड ब्रेकर है, इसको सुधारे बिना सब रंग-रोगन बेकार है।’

गौरतलब है कि प्रियंका गांधी लगातार इस मुद्दे पर मोदी सरकार को घेर रही हैं।

देश में आर्थिक मंदी पर अधिकांश अर्थशास्त्री चिंता जता चुके हैं। अर्थशास्त्रियों के मुताबिक इससे उबरने में खासा वक्त लगेगा। वहीं सरकार का कहना है कि निवेश की वृद्धि दर बढ़ रही है। पिछले दिनों वित्त मंत्री सीतारमण ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा था कि अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत साफ दिख रहे हैं। उन्होंने निर्यात को बढ़ावा देने के लिए कई उपायों की भी घोषणा की थी।

यह भी पढ़ें : जांच एजेंसियों के लिए मुसीबत बना पाकिस्तान से आया कबूतर

यह भी पढ़ें :  शिवसेना को बीजेपी का ‘छोटा भाई’ बनने से क्यों हैं परहेज

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com