Wednesday - 1 February 2023 - 5:13 AM

आप भी हो जाए सावधान, पड़ोसी देश में कोरोना से हाहाकार

जुबिली न्यूज डेस्क

दुनिया के कई देशों में कोरोना का बूस्टर डोज दिया जा चुका है और चौथे डोज देने की तैयारी चल रही है, बावजूद इसके कोरोना का कहर थमता नजर नहीं आ रहा है।

भारत में भले ही कोरोना नियंत्रित है लेकिन पड़ोसी देश चीन में कोरोना से हाहाकार मचा हुआ है। चीन के सबसे बड़े शहर शंघाई में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। लाखों लोग तालाबंदी की वजह सेक अपने घरों में कैद हैं।

स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 438 नए मामलों की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही 7,788 ऐसे मामले भी सामने आए हैं जिनमें संक्रमण के लक्षण नहीं हैं। दोनों तरह के मामले कल की तुलना में थोड़ा अधिक है।

वहीं, उत्तर पूर्वी प्रांत जिलिन में रविवार कोरोना वायरस के कुल 4,455 नए मामले सामने आए, जो शनिवार को सामने आए मामलों से अधिक हैं।

हालांकि कई देशों की तुलना में यह संख्या कम है, लेकिन दैनिक मामले चीन में 2019 के अंत में वुहान में मिले मामलों के बाद सबसे अधिक हैं।

यह भी पढ़ें : मोदी देउबा के मिलन से अब बेपटरी नहीं होंगे भारत-नेपाल सम्बन्ध

यह भी पढ़ें : आम आदमी की सीएम योगी से होगी अब सीधी बात

यह भी पढ़ें :  CM योगी को बम से उड़ाने की धमकी के बाद गोरखनाथ मन्दिर पर हमला

शंघाई में तो कोरोना की वजह से 2.6 करोड़ की आबादी दो चरणों में तालाबंदी का सामना कर रही है। यहां हालात इतने खराब हो चुके हैं कि चीनी प्रशासन को यहां पर सेना भेजने पड़ी है।

यह भी पढ़ें : OH NO ! मलाइका अरोड़ा की गाड़ी का हुआ एक्सीडेंट और लाया गया अस्पताल

यह भी पढ़ें :  सुन भाई रमज़ान भी यही है…

रिपोर्ट के अनुसार, शंघाई में PLA ने कुल 2,000 मेडिकल पर्सनल्स की तैनाती की है। अलग-अलग इलाकों में हजारों की संख्या में हेल्थवर्कर्स भी तैनात किए गए हैं। ये लोग घर-घर जाकर कोरोना टेस्टिंग कर रहे हैं। साथ ही लोगों को घर में ही रहने की हिदायत भी दी जा रही है।

चीन में अब तक 4,638 लोगों की कोरोना से मौत

चीन में कोविड के मामले बढऩे के बावजूद 20 मार्च के बाद कोरोना संक्रमण के कारण किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई है। देश में अब तक 4,638 लोगों की कोविड से मौत हो चुकी है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com