Sunday - 24 January 2021 - 3:31 PM

WhatsApp ने नई प्राइवेसी पॉलिसी पर दी सफाई, पढ़े क्या कहा

जुबिली न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली। व्हाट्सएप की लोकप्रियता भारत में किसी से छिपी नहीं है और नई प्राइवेसी पॉलिसी के ऐलान के बाद अधिकतर यूजर्स को अपनी प्राइवेसी का डर सताने लगा है। ऐसे में व्हाट्सएप जैसी सुविधा देने वाले ऐप Signal और Telegram की लोकप्रियता में उछाल आया है। इस बीच व्हाट्सएप ने ट्विटर पर पोस्ट साझा कर अफवाहों को रोकने की कोशिश की है।

फेसबुक के साथ डेटा साझा करने की पॉलिसी आने के बाद कई अफवाहों को हवा मिली है। साथ ही इसे फैलाने का काम कोई और नहीं बल्कि खुद व्हाट्सएप पर हो रहा है। इसके बाद खुद कंपनी ने इन अफवाहों पर सफाई दी है, जिसे जानना जरूरी है।

ये भी पढ़े: चीन की खुली पोलः बना रहा हवाई अड्डा, रेल टर्मिनल और मिसाइल साइट

ये भी पढ़े: App से लोन लेने वाले हो जाए सावधान, जानिए RBI ने क्यों किया अलर्ट

नई पॉलिसी में इंस्टैंट मैसेजिंग एप व्हाट्सएप ने पर्सनल चैट डील में बदलाव नहीं किया है। इससे एंड टू एंड इनक्रिप्शन बना रहेगा। इसका मतलब है कि थर्ड पार्टी एप यूजर्स के संदेशों को पढ़ नहीं पाएंगे।

ये भी पढ़े: Nora Fatehi ने इस गाने पर किया जबरदस्त डांस, देखें Video

ये भी पढ़े: Telegram ने उड़ाया Whatsapp का मज़ाक, देखें मजेदार वीडियो

व्हाट्सएप पॉलिसी के मुताबिक हम किसी की भी मैसेज को पढ़ते नहीं हैं और न ही मैसेज को व्हाट्सएप सर्वर पर स्टोर करते हैं। बल्कि यह मैसेज यूजर्स के डिवाइस में सेव होते हैं। जैसे ही मैसेज डिलिवर्ड होते हैं तो वह व्हाट्सएप के सर्वर से खुद ब खुद डिलीट हो जाते हैं।

व्हाट्सएप प्रमुख विल कैथकार्ट ने ट्विटर पर यह समझाने की कोशिश की है कि वे यूजर्स के मैसेज को पढ़ नहीं सकते हैं क्योंकि वह एंड टू एंड इनक्रिप्टेड होते हैं। एंड टू एंड इनक्रिप्शन प्रोटोकॉल का ही सिग्नल ऐप इस्तेमाल करता है।

ये भी पढ़े: इस आईएएस ने बढ़ाया यूपी का सियासी पारा

ये भी पढ़े: जाने पीएम मोदी ने किसे बताया लोकतंत्र का सबसे बड़ा दुश्‍मन

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com