पड़ोसियों से परेशान परिवार ने दरवाजे पर लगाया ‘घर बिकाऊ है’ का पोस्टर

जुबिली न्यूज डेस्क

पड़ोसियों से लड़ाई होना आम बात है। लड़ाई होती है फिर सुलह हो जाती है। लेकिन आगरा में अपने पड़ोसियों से एक परिवार इस कदर परेशान हो गया है कि वह अपने घर के दरवाजे पर घर बिकाऊ है का पोस्टर लगा दिया है।

पीडि़त परिवार अपना घर बेचना चाहता है लेकिन पड़ोसी उसका मकान भी नहीं बिकने दे रहे हैं। पड़ोसियों के आजिज आकर पीडि़त परिवार ने आलाधिकारियों से शिकायत कर न्याय की गुहार लगाई है।

आगरा के थाना सिकंदरा क्षेत्र में समुदाय विशेष के पड़ोसियों द्वारा आए दिन झगड़ा कर परेशान किया जाता है। केके नगर में शिवाकुंज गली नंबर-9 निवासी रंजना भदौरिया एक प्राइवेट अस्पताल में आया हैं। उनके पति विनोद प्राइवेट नौकरी करते हैं। उनके तीन बेटे अभिषेक, प्रशांत और शिवांकर भी प्राइवेट नौकरी करते हैं।

यह भी पढ़ें :  विदेशी चंदा मामले में CBI के रडार पर हैं गृह मंत्रालय के अधिकारी 

यह भी पढ़ें :  जानिए कौन से दर्द में की जाती है गर्म या ठंडी सिकाई

यह भी पढ़ें :  भारी तबाही की आशंका के साथ आंध्र प्रदेश की तरफ बढ़ रहा है असानी

इस परिवार ने 5 साल पहले अपनी जमापूंजी लगाकर मकान बनवाया था। पीडि़त परिवार का आरोप है कि उनके पड़ोसी उनके घर पर कब्जा करने की नियत रखते हैं।

पीडि़त ने कहा, आए दिन घर से निकलने पर कभी सडक़ पर पानी फैला देते हैं तो कभी घर के बाहर से ईंट और अन्य सामान जबरन उठा ले जाते हैं। बिना बात के झगड़ा होता है और फिर आरोपी बच्चों पर गलत आरोप लगाने लगते हैं।

पीडि़त परिवार ने बताया कि चार मई को पड़ोसी ने मेरे और पति विनोद के साथ मारपीट की। शिकायत पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

6 बार लॉकअप हो आया बेटा, नहीं हो रही शादी

पीडि़ता रंजना भदौरिया ने कहा, उनका छोटा बेटा शिवांकर ही उन्हें अस्पताल से लाता और ले जाता है। बच्चों के जाने पर डर लगा रहता है। पड़ोसी से झगड़े के चलते अब तक मेरा बेटा छह बार जेल में बंद हो चुका है। कोई बच्चों का रिश्ता लेकर आता है तो यह लोग जान बूझकर माहौल बिगाड़ देते हैं और संबंध नहीं हो पाता है।

रंजना ने कहा, इनके मकान भी कब्जा किए हुए हैं और इनके पास कोई कागज नहीं है। इन लोगों की वजह से तीनों बेटों की शादी नहीं हो पा रही है।

यह भी पढ़ें :  आजम खान को HC ने दो महीने की अंतरिम जमानत दी लेकिन जेल से बाहर…

यह भी पढ़ें :  ‘खेलो इंडिया स्कीम के तहत प्रशिक्षकों का चयन होगा जल्द’

यह भी पढ़ें :  याद किये गए शहीद अब्दुल रफीक खान

इस मामले में एसपी सिटी विकास कुमार ने कहा कि दोनों पक्षों में 4 दिन पहले विवाद हुआ था। मामले की जांच की जा रही है। मकान पर बिकाऊ की तख्ती परिवार ने ही लगाई थी। मामले में उचित विधिक कार्रवाई की जाएगी।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com