Sunday - 24 January 2021 - 2:46 PM

सपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी ये पार्टी, बनाएगी अखिलेश सरकार

जुबिली न्यूज ब्यूरो

2022 में छोटे दलों को अपने साथ लेकर चलने की अपनी रणनीति को जमीन पर उतारने की दिशा में एक मजबूत कदम रखते हुए समाजवादी पार्टी ने महान दल के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का संकेत दिया है।

पार्टी मुख्यालय पर सपा मुखिया अखिलेश यादव और महान दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव देव मौर्य की मुलाकात हुई। इस मौके पर महान दल के कई प्रमुख नेता भी मौजूद रहे।

महान दल के शिवकुमार यादव, रामानंद सैनी, ब्रजमोहन कुशवाहा, सर्वेश शाक्य तथा बदन सिंह सैनी की मौजूदगी में पार्टी ने ऐलान किया कि वह 2022 में अखिलेश यादव की अगुवाई में सरकार बनाने के लिए दम लगा देंगे।

महान दल की बैठक में केशव देव मौर्य ने कहा कि जबसे भाजपा सत्ता में आई है, पिछड़ों, दलितों और समाज के कमजोर वर्गों के साथ भेदभाव तथा उपेक्षा बढ़ गई है। इस पार्टी का इरादा आरक्षण खत्म करने का है। अभी भी विश्वविद्यालयों और सरकारी अस्पतालों में होने वाली भर्तियों में आरक्षण के नियमों का पालन नहीं हो रहा है।

यह भी पढ़ें : होमगार्ड ने थाने पर की फायरिंग, पुलिस की जवाबी कार्रवाई में हुई मौत

यह भी पढ़ें : बीजेपी विधायक ने बिहार सरकार से योगी माडल अपनाने को कहा

मौर्य ने कहा कि युवाओं और छात्र-छात्राओं का भाजपा राज में उत्पीड़न बढ़ा है। उन पर गम्भीर अपराधिक धाराएं लगाई जाती है। बेरोजगारी बढ़ी है। मंहगाई ने कमर तोड़ दी है। किसानों को धोखा दिया गया है। उनके आंदोलन को बदनाम किया जा रहा है।

महान दल की बैठक में मांग की गई कि जनगणना में जातीय गणना भी हो ताकि समाज की संख्या के आधार पर उनकी विभिन्न क्षेत्रों में भागीदारी निश्चित की जा सके। सामाजिक न्याय के प्रति भाजपा नेतृत्व में उदासीनता है। भाजपा रागद्वेष की राजनीति करती है और समाज को बांटने तथा आपस में नफरत फैलाने का काम करती है।

इस मौके पर महान दल के अन्य नेताओं ने भी अपनी बात रखी। उनका कहना था कि भाजपा राज में किसी का भी जानमाल सुरक्षित नहीं है। महिलाओं और बच्चियों का जीवन असुरक्षित है। भाजपा के नेता और उनके वंशज दबंगई से दहशत मचाए हुए हैं।

यह भी पढ़ें : गोडसे आतंकी या देशभक्त ? सियासत फिर शुरू

यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : इकाना से सीमान्त गांधी तक जारी है अटल सियासत

समाजवादी सरकार ने जो काम किए थे उन्हें द्वेषवश बर्बाद करने के अलावा भाजपा सरकार के पास दूसरा काम नहीं है। भाजपा ने कोई काम करने के बजाय समाजवादी पार्टी के कामों को ही अपना बताने में चार वर्ष बिता दिये।

महान दल नेताओं ने कहा कि प्रदेश में उनकी ताकत कम नहीं आँकी जानी चाहिए। इस दल के प्रदेश भर में कार्यकर्ता फैले हुए हैं। वे सब समाजवादी पार्टी को चुनाव में जिताएंगे और 2022 में अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाएंगे।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com