Thursday - 24 June 2021 - 11:18 PM

रोज एक गिलास बेल का शरबत पीने से दूर होती हैं ये बीमारियां

जुबिली न्यूज डेस्क

बेल के बारे में हम सभी जानते हैं। भगवान शिव का पंसदीदा फल बेल है। इसीलिए शिवरात्रि के दिन भगवान शिव को खुश करने के लिए बेल पत्र और बेल उनको अर्पित किया जाता है।

औषधीय गुणों से भरपूर बेल बहुत लोगों को पंसद होता है। लोग गर्मियों में बेल का शरबत पीते हैं। बेल की खूबियों के बारे में जानना है तो घर के बड़े-बुजुर्ग से पूछे। वह बतायेंगे कि बेल कितना फायदेमंद है।

बेल ऐसा फल है, जो गर्मियों में ही मिलता है। ऊपर से कठोर और अंदर से नरम इस फल को खाया तो जाता ही है और इसका शरबत भी बनाया जाता है। गर्मियों में अगर रोज एक गिलास बेल का शरबत पीया जाए, तो कई फायदे होते हैं.। तो चलिए आज हम जानते हैं बेल की खूबियों के बारे में।

1. कब्ज से दिलाता है छुटकारा- बेल के शरबत की तासीर ठंडी होती ही है। गर्मियों में इसके सेवन से शरीर हाइड्रेट रहता है और पेट ठंडा रहता है। इसका सीधा फायदा कब्ज के रोगियों को मिलता है।

2. इम्यूनिटी बढ़ाता है बेल – बेल के शरबत में प्रोटीन, बीटा-कैरोटीन, थायमीन, राइबोफ्लेविन और विटामिन C जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसमें से विटामिन C बॉडी की इम्यूनिटी को बढ़ाने में मददगार होता है। मालूम हो कि अच्छी इम्यूनिटी शरीर को रोगों से लडऩे में सक्षम बनाती है।

3. खून साफ करता है बेल– स्किन संबंधी कई समस्याएं खून साफ न होने की वजह से होती है। अगर आप इस समस्या से जूझ रहे हैं तो बेल आपके लिए बेहतर नेचुरल विकल्प साबित हो सकता है। इसके लिए आपको बेल के शरबत में कुछ मात्रा में गर्म पानी मिलाना होता है।

4.दिल की बीमारियों में फायदेमंद- मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अगर बेल के शरबत में कुछ बूंद घी मिलकार एक निश्चित मात्रा सेवन किया जाए, तो इसका फायदा देखने को मिलता है। इससे दिल की बीमारियां दूर रहती हैं।

5. ब्रेस्ट कैंसर से करता है बचाव- बेल का शरबत ब्रेस्ट कैंसर से बचाव करता है। इसके साथ ही जो महिलाएं स्तनपान करा रही हैं, उनके लिए भी बेल का शरबत फायदेमंद होता है। इसके सेवन से ब्रेस्ट मिल्क प्रोडक्शन बढ़ता है।

कौन लोग कर सकते हैं बेल के शरबत का सेवन

वैसे तो सभी लोग बेल के शरबत का सेवन कर सकते हैं लेकिन कुछ खास लोगों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। 30 साल से कम उम्र वाले लोग, जो कुछ भी आसानी से पचा लेते हैं, वो रोज बेल का शरबत पीएं लेकिन डायबिटीज के मरीजों को रोज सेवन नहीं करना चाहिए। हालांकि, वो बेल खा सकते हैं. लेकिन शरबत में मीठे का इस्तेमाल किया जाता है, जो उन्हें नुकसान पहुंचा सकता है।

किन बातों का रखें ध्यान

बेल का शरबत पीते वक्त दो बातों का ध्यान रखा चाहिए। पहला ये कि बेल को छांव में रखें। दूसरी ये कि शरबत में चीनी का इस्तेमाल न करें। अक्सर बाजार में मिलने वाले बेल के शरबत में चीनी का बहुत ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। चीनी के जगह आप गुड़ या खांडसारी/खांड का इस्तेमाल कर सकते हैं।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com