Sunday - 1 August 2021 - 12:13 AM

यूपी पुलिस का कारनामा, दिव्यांग बुजुर्ग को बना दिया डकैती का मुल्जिम

जुबिली न्यूज डेस्क

यूपी पुलिस के कारनामें अक्सर सुर्खियां बटोरती हैं । यूपी पुलिस का सारा जोर निरीह पर ही चलता है, ताकतवर के सामने वह हाथ बांधे खड़ी दिखती है।

बरेली जिले में पुलिस का एक कारनामा सुर्खियां बटोर रहा है। पुलिस ने एक दिव्यांग को ही डकैती का आरोपी बना दिया है। और तो और पुलिस ने एफआईआर में लिखा है कि आरोपी ने दोनों हाथों से ताबड़तोड़ फायरिंग की है।

सवाल उठता है कि जिस बुजुर्ग के दोनों हाथ ही न हो वह ताबड़तोड़ फायरिंग कैसे कर सकता है? लेकिन नहीं, पुलिस इससे इत्तेफाक नहीं रखती है। पुलिस की नजर में दिव्यांग बुजुर्ग फायरिंग भी कर सकता है और घर में जमकर लूटपाट मचाकर सोने चांदी के जेवर और कीमती सामान लूटकर ले जा सकता है।

फिलहाल पुलिस एफआईआर और केस डायरी यही कह रही है। लेकिन जब पुलिस ने जांच-पड़ताल शुरू की तो बुजुर्ग के दोनों हाथ न देखकर दंग रह गई।

आरोपी बनाए गए दिव्यांग के परिवार के लोग बारादरी थाने से लेकर एसएसपी से गुहार लगा रहे हैं। इसके बाद भूल सुधार करते हुए पुलिस डकैती के मुकदमे से बुजुर्ग का नाम बाहर करने जा रही है।

क्या है मामला

जोगी नवादा चक महमूद की रहने वाली गुलफ्शा और उनके पति बिलाल के बीच मारपीट हो गई थी, जिसके बाद गुलफ्शा अपने मायके में आ गईं। इसी कहासुनी के बाद 25 जून को जोगी नवादा के रहने वाले गुलफ्शा के परिवार के छात्र मुश्ताक की बिलाल पक्ष के लोगों ने बड़ा बाईपास पर गोली मारकर हत्या कर दी थी।

यह भी पढ़ें : गलवान घाटी में चीनी सैनिकों से जवानों की झड़प पर सरकार ने क्या कहा?

यह भी पढ़ें :  सावधान ! कोरोना की तीसरी लहर आने के मिलने लगे संकेत 

इसके बाद गुलफ्शा पक्ष के शकील ने जोगी नवादा के रहने वाले गुड्डू, अकरम, गटे, नाजिम, अफसर हाजी, अफजाल, दिव्यांग वकीलउद्दीन के खिलाफ डकैती का मुकदमा दर्ज कराया था।

आरोप था कि वकीलउद्दीन जोगी नवादा में तमंचा राइफल से फायरिंग करते हुये शकील के घर में घुस गये। उन्होंने सोने की झुमकी, सोने की चेन, चांदी की पायल, 70 हजार रुपये लूट ले गये।

यह भी पढ़ें : यूपी की जनसंख्या नीति पर दारुल उलूम ने उठाए सवाल, जानिए क्या कहा?

यह भी पढ़ें :  दिया मिर्जा ने इतनी बड़ी बात दो महीने क्यों सीक्रेट रखी?

यह भी आरोप लगाया गया कि शकील ने दीवार कूदकर अपनी जान बचाई। उस समय शकील के बच्चे घर पर नहीं थे। काफी देर तक हमलावर वहां बवाल करते रहे। इसके बाद फरार हो गये।

शकील की तहरीर पर सातों आरोपियों के खिलाफ बलवा, डकैती समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। अब पुलिस की विवेचना में सामने आया कि वकीलउदीन के दोनों हाथ ही नहीं है। ऐसे में उन्होंने फायरिंग लूटपाट कैसे की।

यह भी पढ़ें : WHO ने कहा-कोविड की अलग वैक्सीनों के डोज लेना खतरनाक  

यह भी पढ़ें :  कोरोना टीका को लेकर चिदंबरम का मोदी सरकार पर हमला, कहा-जुमला बन…  

यह भी पढ़ें :  सिद्धू का ये ताजा बयान क्या फिर दिखा रहा है ‘AAP’ प्रेम  

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com