Thursday - 24 June 2021 - 11:31 PM

बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने पर हुआ सर्वे तो आये चौकाने वाले आंकड़े

जुबिली न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली। भारत में रद्द हुई बोर्ड परीक्षाओं पर एक सर्वे कराया गया, जिसमें कई चौंकाने वाली बातें सामने आयी है। बड़ी संख्या में लोगों का मानना है कि सरकार को सीबीएसई 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने के बजाय इसे स्थगित कर देना चाहिए था।

आईएएनएस-सीवोटर सीबीएसई स्नैप पोल में लोगों से बातचीत की गई, जिसमें यह जानकारी निकलकर सामने आई है। सर्वे में शामिल 49.1% लोगों का मानना है कि सरकार को परीक्षाएं रद्द करने की बजाय उन्हें टाल देना चाहिए था।

ये भी पढ़े:UP में और कम हुए नए कोरोना केस, 108 मरीजों की हुई मौत

ये भी पढ़े: एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती कोरोना मुक्त, दो दिन में मिला एक संक्रमित

सर्वे में शामिल उत्तरदाताओं के युवा समूह के बीच यह राय अधिक मजबूत देखने को मिली है। 18-25 वर्ष आयु वर्ग में 50.8% ने इस बात का समर्थन किया, जबकि 56 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 46.2% लोगों ने कहा कि परीक्षाएं स्थगित कर दी जानी चाहिए थीं।

महामारी के कारण उत्पन्न अनिश्चित स्थितियों और विभिन्न हितधारकों से प्राप्त प्रतिक्रिया को ध्यान में रखते हुए, केंद्र ने मंगलवार को 2021 के लिए सीबीएसई बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा रद्द करने का निर्णय लिया था। सरकार के निर्णय के बाद, काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) ने भी इस साल आईएससी बारहवीं की परीक्षा रद्द कर दी है।

ये भी पढ़े: कोरोना संकट के चलते इस साल मुकेश ने नहीं ली अपनी सैलरी

ये भी पढ़े: मायवती के करीबी ये नेता क्यों हुए BSP से बाहर

सीबीएसई बारहवीं की बोर्ड परीक्षा रद्द करने का फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक में लिया गया। स्नैप पोल में पाया गया कि अधिकांश उत्तरदाताओं – 56.4% ने सीबीएसई कक्षा बारहवीं की बोर्ड परीक्षा रद्द करने के सरकार के फैसले का समर्थन किया।

सर्वे के दौरान राज्यों में 56.6% लोगों ने कहा कि देश में मौजूदा कोविड की स्थिति के कारण बारहवीं कक्षा के लिए राज्य बोर्ड की परीक्षाएं भी रद्द कर दी जानी चाहिए।

एक जून को बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने के केंद्र सरकार के फैसले के बाद आईएएनएस-सीवोटर सीबीएसई स्नैप पोल आयोजित किया गया। स्नैप पोल के लिए दो जून को संपूर्ण भारत के विभिन्न हिस्सों से कुल 5,422 लोगों से बातचीत की गई।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com