Saturday - 4 February 2023 - 9:35 PM

भतीजे से मिला धोखा तो चाचा ने कर लिया इनसे गठजोड़

लोकसभा चुनाव के लिए शिवपाल ने उतारे 31 प्रत्याशी

पॉलिटिकल डेस्क

उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव को लेकर सियासी पारा तेज हो गया है। बीजेपी को रोकने के लिए विरोधी दल एक साथ नजर आ रहे हैं। माना जाता है कि दिल्ली की सत्ता यूपी से होकर जाती है। ऐसे में राजनीतिक दल यूपी को लेकर थोड़ा ज्यादा सर्तक नजर आ रहे हैं। बीजेपी को हराने के लिए बुआ-बबुआ एक हो गए लेकिन इस दौरान कांग्रेस को अलग-थलग कर दिया गया। उधर सपा से अलग हुए शिवपाल यादव लगातार उपेक्षा का शिकार हो रहे हैं। मायावताी और अखिलेश ने उन्हें कोई भाव नहीं दिया, जबकि शिवपाल यादव बार-बार कहते रह गए कि उनके बगैर सपा-बसपा का गठजोड़ नहीं हो सकता है।

शिवपाल यादव के लिए नहीं बचा थाा कोई रास्ते

सपा-बसपा ने शिवपाल यादव की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया को सिरे से खारिज कर दिया था। इसके बाद शिवपाल यादव ने कांग्रेस से गठबंधन करने की पूरी कोशिश की। इसके लिए उन्होंने कई बार दिल्ली का दौरा भी किया। इतना ही नहीं प्रियंका और राहुल से भी बात की लेकिन यहां उनकी बात नहीं बनी। इसके बाद अब खबर है कि उन्होंने नया गठबंधन बनाने का फैसला किया है। जानकारी के मुताबिक शिवपाल यादव की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी ने पीस पार्टी के साथ नया गठबंधन बनाया है।

यूपी का छठा सबसे बड़ा राजनीतिक दल पीस पार्टी पहले साइकिल की सवारी करती थी लेकिन इस बार वह शिवपाल यादव के साथ जाने का ऐलान किया है। डॉ मोहम्मद अयूब ने इसकी घोषणा मंगलवार को कर दी है। इसके साथ ही प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल सिंह यादव ने प्रदेश के करीब आधा दर्जन छोटे दलों को साथ लाकर प्रोग्रेसिव डेमोक्रेटिक अलायंस की घोषणा कर दी है। 

टीपू ने चाचा को हर मौके पर दिया है गच्चा

अखिलेश यादव और उनके चाचा शिवपाल के साथ उनके रिश्ते बेहद उतार-चढ़ाव भरे रहे हैं। आलम तो यह रहा है कि अखिलेश का नाम सुनते ही शिवपाल यादव गुस्से से आग बबूला हो जाते हैं। कई मौकों पर शिवपाल यादव ने अखिलेश पर निशाना साधा है। इतना ही नहीं मुलायम को अपने पाले में करने के लिए शिवपाल यादव ने कोई कसर नहीं छोड़ी है। सपा से उनके रिश्ते बेहद खराब हो गए थे। इसके बाद उन्हें अखिलेश से किनारा करना पड़ा और नई पार्टी बना डाली।

लोकसभा चुनाव में भी शिवपाल यादव भी ठोकेंगे ताल

पीस पार्टी से करार करने के बाद शिवपाल यादव की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी ने यूपी की 80 सीटों में से 31 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की सूची घोषित कर दी है।

फिरोजाबाद से शिवपाल यादव चुनाव लड़ते नजर आयेंगे। रोचक बात यह है कि फिरोजाबाद सीट पर भतीजे अक्षय के खिलाफ चाचा शिवपाल चुनावी मैदान में उतरेंगे।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com